माता-पिता अस्वच्छ व्यवसाय में हैैं तो बच्चों को मिलेगी छात्रवृति
August 2nd, 2019 | Post by :- | 207 Views

मंडी, 02 अगस्त: अस्वच्छ व्यवसाय में लगे अभिभावकों के बच्चों को केन्द्र सरकार प्रायोजित अस्वच्छ व्यवसाय योजना के तहत प्री मैट्रिक छात्रवृति प्रदान की जाएगी। उप शिक्षा निदेशक प्रारम्भिक मंडी अशोक शर्मा ने इस बारे बताया कि योजना के तहत हिमाचल प्रदेश प्रारम्भिक शिक्षा विभाग द्वारा वर्ष 2019-20 में पहली से दसवीं कक्षा तक के बच्चों को सालाना 3 हजार रुपए छात्रवृति दी जाएगी।
इस बाबत जिला मंडी के सभी स्कूलों के प्रधानाचार्य, मुख्याध्यापक व प्रारम्भिक खण्ड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं । उनसे पात्र छात्र-छात्राओं के आवेदन आधार नम्बर, बैंक खाते की छायाप्रति के साथ 15 अगस्त, 2019 तक उप निदेशक प्रारम्भिक शिक्षा के कार्यालय में जमा करवाने को कहा गया है। निर्धारित तिथि के उपरान्त तथा अधूरे आवेदन मान्य नहीं होंगे।

अस्वच्छ व्यवसाय योजना के तहत इन वर्गों को मिलेगा लाभ

इस योजना के तहत अस्वच्छ व्यवसाय से सम्बन्धित सफाई करने वाले, चमड़ा रंगने वाले, जानवरों की खाल उतारने वाले और कूड़ा बीनने के काम में लगे लोगों के बच्चों को ही छात्रवृृति का प्रावधान है। इसके जिला कल्याण अधिकारी, जिला परिषद के अध्यक्ष ग्राम पंचायत या नगर पंचायत प्रधान में से किसी एक द्वारा जारी प्रमाण पत्र स्वीकार किया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।