चेल्सी स्कूल के लिए बनेगा शहर का पहला अंडर ग्राउंड रास्ता #news4
April 26th, 2022 | Post by :- | 120 Views

शिमला : शहर के सुंदरीकरण के लिए अम्रुत मिशन के तहत 283 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। यह बात शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने मंगलवार को शिमला नगर निगम के बैनमोर वार्ड में एक करोड़ 10 लाख रुपये की लागत से विभिन्न विकास कार्यो के लोकार्पण एवं शिलान्यास करने के बाद कही। उन्होंने शिमला में बन रहे पहले भूमिगत मार्ग का भी शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि करीब 70 लाख रुपये बनने वाले भूमिगत पैदल मार्ग से सेंट बीड्स कालेज और चेल्सी स्कूल की छात्राओं के साथ स्थानीय लोगों को भी इससे लाभ होगा। साथ ही स्कूल और कालेज के कारण लगने वाले जाम से भी निजात मिलेगी।

शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने अम्रुत मिशन के तहत बने यूएस क्लब के समीप पहले सनसेट प्वाइंट का भी उद्घाटन किया। 10 लाख रुपये से निर्मित यह सनसेट प्वाइंट बनाया है। यह स्थानीय लोगों के साथ पर्यटकों के लिए भी आकर्षण का केंद्र होगा।

इस मौके पर नगर निगम की महामौर सत्या कौंडल, उपमहापौर शैलेंद्र चौहान, नगर निगम आयुक्त आशीष कोहली, मंडलाध्यक्ष राजेश शारदा सहित पार्षद किमी सूद, किरण बावा, शैली शर्मा, आशा शर्मा, पार्षद आरती और जिला किसान मोर्चा शिमला के अध्यक्ष संजीव चौहान, दीपक शर्मा मौजूद रहे। 35 गाड़ियों को पार्किंग की मिलेगी सुविधा

शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने बैनमोर वार्ड में ही 30 लाख रुपये से निर्मित दोमंजिला पार्किग का भी उद्घाटन किया। इसमें 35 गाड़ियों की पार्किग के लिए व्यवस्था होगी। संजौली के समीप कार्नर क्षेत्र में यह पार्किग बनाई गई है। शिमला में स्मार्ट सिटी में अम्रृत मिशन के तहत कई कार्य किए जा रहे हैं। इससे शिमला शहर को सुंदर बनाने के साथ लोगों को कई सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। रिवोली से रिज तक बनेगा एलीवेटर

स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत रिवोली सिनेमा से ऐतिहासिक रिज मैदान को लिफ्ट से जोड़ा जा रहा है, जिससे प्रदेश में आने वाले पर्यटकों को इसका लाभ मिलेगा। आइजीएमसी शिमला में 700 गाड़ियों की पार्किग बनाई जा रही है, जिसमें मरीजों के साथ आने वाले लोगों को भी लाभ मिलेगा। उन्होंने अपनी ऐच्छिक निधि से संजौली के कार्नर क्षेत्र में जिम के लिए तीन लाख रुपये देने की घोषणा भी की।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।