धारा 118 पर गुमराह न करे कांग्रेस – सत्ती
August 11th, 2019 | Post by :- | 164 Views

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाऐ जाने के बाद हिमाचल की धारा 118 को लेकर हिमाचल में सियासी सरगर्मियां तेज हो गई हैं। कांग्रेस का कहना है कि जयराम सरकार कुछ नेताओं को फायदा पहुंचाने के लिए धारा 118 में बदलाव कर रही है, जबकि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती ने धारा 118 में किसी भी तरह के बदलाव से इनकार किया और भाजपा के सहयोगी दलों के नेताओं जिन्होंने धारा 118 में बदलाव की मांग उठाई थी, उन्हें उनकी निजी राय बताया।
सत्ती ने कहा कि चुनावो में मिली हार के बाद कांग्रेस के पास अब कोई मुद्दा नहीं बचा है और अब कांग्रेस धारा 118 को लेकर सदन के अंदर और बाहर इसको लेकर दुष्प्रचार कर रही है। उन्होंने कहा 118 हिमाचल के मूल निवासियों के हितो के संरक्षण के लिए लगाई गई है। भाजपा ने कभी भी इसमें संशोधन नहीं किया बल्कि खुद कांग्रेस ने अपने कार्यकाल में पांच बार संशोधन किया है। सती ने कहा कि कांग्रेस में अपने निजी स्वार्थों के लिए 118 से कई बार छेड़छाड़ की है। उन्होंने कहा की धारा 118 का 370 से तुलना करना गलत है। 370 के चलते देश को नुकसान हुआ है, जबकि 118 ,कोई देश विरोधी नहीं है ।
निसंदेह विपक्ष इस मुद्दे पर सरकार को इसलिए घसीट रहा है क्योंकि पंजाब के अकाली नेता नें इस बारे सवाल किया है। जबकि यह साफ है कि 118 सिर्फ हिमाचल में पहाड़ों को बचाने के लिए लगाया गया एक नियम है ,जिसे हर राज्य अपने तरीके से बना सकता है। लेकिन यह कहीं भी देश के लिए घातक नहीं है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।