सिरमौर के किसानों से करोड़ों रुपये का लहसुन लेकर ठेकेदार फरार #news4
June 24th, 2022 | Post by :- | 43 Views

नाहन : जिला सिरमौर के किसानों से एक माह तक लहसुन खरीद कर 1 सप्ताह में भुगतान का वादा कर ठेकेदार इंदर सिंह फरार हो गया है। लहसुन ठेकेदार इंदर सिंह पुत्र मेघ सिंह ने किसानों से लहसुन की पेमेंट 1 सप्ताह में करने का वादा किया था। मगर 3 सप्ताह भी जाने बाद भी ना तो किसानों को लहसुन की पेमेंट मिली। ना ही ठेकेदार का कोई अता पता, अब ठेकेदार इंदर सिंह का मोबाइल फोन भी बंद आ रहा है। जिसके स्थानीय किसान नैत्र मणी पुत्र मोहन दत्त निवासी गांव लौहारड़ी डाकघर पानवा तहसील व थाना पच्छाद जिला सिरमौर ने पुलिस थाना पच्छाद में शिकायत दर्ज कराई है कि इंद्र सिंह पुत्र मेघ सिंह लहसुन ठेकेदार इनके गांव में लगभग एक महीना पहले आया। जिसने इसे व संदीप को लहसुन की ग्रेडिंग करने के लिए अपने पास रखा तथा विजय शर्मा से चिरानी घाट में स्टोर किराये पर लिया।

उसने गांव के लोगों से इनके साथ लेकर लहसुन खरीदा और लहसुन को ट्रालों व कैंटर में लोढ़ करवाकर ले गया। उनसे कहा कि किसानों को पेमेंट एक सप्ताह के अंदर कर देगा । मगर अब 15 दिनों से अधिक का समय हो गया है। इन्द्र सिंह ने अपना मोबाइल नम्बर भी बंद कर दिया और किसी भी किसान का पैसा नहीं दिया हैं। उसके साथ एक टैक्सी भी थी, जिसको सुखलाल चलता था। टैक्सी नंबर HP- 01B -1358 के ड्राइवर सुख लाल ने इसे फोन पर कहा कि लहसून के कट्टे जो स्टोर में है, जिनका छोटा साइज है। उसे स्टोर से लेकर बेच कर कुछ किसानों के पैसे दे दो।

तब इसने संदीप के पिता मस्तराम को साथ लेकर सब्जी मण्डी सोलन में कुल 631 बैग लहसुन को बेचा है। जिसकी पेमेंट भी नहीं मिली है। इसके अतिरिक्त गांव के करीब 20 किसानों से भी ठेकेदार इंद्र सिंह लहसून ने इसके साथ लहसुन खरीद किया और उनके साथ भी ठगी की है। उनकीं भी लहसुन की पेमेंट का भुगतान नहीं किया है। राजगढ़ – पच्छाद उपमंडल के डीएसपी भीष्म ठाकुर ने बताया कि किसान की शिकायत पर लहसुन के ठेकेदार इंदर सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी और ठगी का मामला दर्ज कर लिया गया है। फरार ठेकेदार को पकड़ने के लिए सर्च अभियान चलाया जा रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।