रीजनल अस्पताल ऊना में कोरोना विस्फोट, 6 चिकित्सक और 30 पैरामेडिकल स्टाफ संक्रमित #news4
January 13th, 2022 | Post by :- | 46 Views

ऊना : जिला में रोजाना बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों का असर अब दिखने लगा है। जिले का सबसे बड़ा स्वास्थ्य संस्थान इस वक्त कोविड-19 का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बन कर उभरा है। रीजनल अस्पताल ऊना में 6 चिकित्सकों और 30 पैरामेडिकल स्टाफ के एक ही दिन में संक्रमित पाए जाने के बाद हड़कंप की स्थिति बन गई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ रमन शर्मा ने जिला वासियों से अपील की है कि बहुत जरूरी होने पर ही क्षेत्रीय अस्पताल में आएं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए जिला के निवासी अपने नजदीकी सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में तैनात चिकित्सकों की सेवाएं भी ले सकते हैं।

कोविड-19 संक्रमण के बुरी तरह फैलने के चलते जिला में स्थिति भयावह होती जा रही है। हालत यह है कि लोगों की सेहत की संभाल करने वाला स्वास्थ्य विभाग इस वक्त कोविड-19 के संक्रमण की जकड़ में आ चुका है। क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में 3 दर्जन से अधिक चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ के कर्मचारी संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। जिला में सामने आए कोविड-19 के 146 नए मामलों में से 6 चिकित्सक और 30 पैरामेडिकल स्टाफ के कर्मचारी शामिल हैं। सीएमओ ऊना डॉक्टर रमन शर्मा ने इस पर चिंता जताई है। इसके साथ ही उन्होंने जिला वासियों से अपील भी की है कि कोविड-19 संक्रमण की वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए बहुत जरूरी होने पर ही रीजनल अस्पताल उपचार के लिए आएं। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में जिला के नागरिक अपने नजदीकी सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में तैनात किए गए विभाग के चिकित्सकों की सेवाएं ले सकते हैं। उन्होंने माना कि इस समय जिला में कोविड-19 का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट जिले का ही सबसे बड़ा स्वास्थ्य संस्थान बन चुका है। डॉ रमन शर्मा ने कहा कि सभी चिकित्सकों और पैरामेडिकल स्टाफ के लोगों को 7 दिनों के लिए नियमानुसार आइसोलेट कर दिया गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।