दलाई लामा ने की पीएम मोदी के प्रयासों की सराहना, धर्मगुरु का ट्रस्ट करेगा दान
April 1st, 2020 | Post by :- | 240 Views

कोरोना वायरस के कारण देश में चल रहे लॉकडाउन के बीच भारत को आर्थिक सहायता देने के लिए दलाई लामा ट्रस्ट भी आगे आया है। तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस संबंध में पत्र लिखा है। उन्होंने लिखा है कि विश्व भर में फैली कोरोना महामारी से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो कदम उठाए हैं, वे सराहनीय हैं। दलाई लामा कहते हैं कि वे मानते हैं कि इस वक्त देश को आर्थिक सहायता की जरूरत है, इसलिए प्रधानमंत्री राहत कोष से बहुत सहायता मिलेगी। दलाईलामा ट्रस्ट भी पीएम केयर फंड में दान करेगा। उन्होंने लिखा है कि वे अपने कार्यालय के कर्मचारियों से भी आह्वान करेंगे कि कम एक दिन का वेतन दान के रूप में दें।

बीते दिनों भी तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा ने भारत सरकार समेत विश्वभर के देशों के प्रयासों की सराहना की थी। उन्होंनेे जरूरतमंद लोगों की मदद करने का भी आह्वान किया था। दलाई लामा कोरोना वायरस के फैलने की शुरुआती दौर में ही अंर्तध्यान हो गए थे। दलाई लामा ने किसी भी बाहरी व्यक्ति से न मिलने का फैसला लिया था। बीते दिनों तिब्बती समुदाय के एक बुजुर्ग की काेरोना वायरस के कारण मौत हो गई थी। उक्त शख्स अमेरिका से लौटा था, उसे कांगड़ा के निजी अस्पताल में प्रारंभिक उपचार के बाद डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल टांडा में उपचाराधीन किया गया था। लेकिन कुछ देर में ही उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद से धर्मशाला व मैक्लोडगंज में रह रहे तिब्बती समुदाय के लोगों में भी दहशत का मााहौल है। हालांकि उसके संपर्क में आए लोगों की जांच की गई है, वह स्वस्थ हैं।

दलाई लामा ने बीते दिनों सरकार व एनजीओ से तिब्बती लोगों की भी मदद का आह्वान किया था। अब हिमाचल प्रदेश व खासतौर पर जिला कांगड़ा में स्थिति सुधरने से धर्मगुरु समेत समुदाय के लोगों ने भी राहत की सांस ली है।

हिमाचल प्रदेश में काेरोना वायरस के तीन मामले पॉजिटिव आए थे, जिनमें से तिब्बती समुदाय के एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। इसके अलावा शाहपुर क्षेत्र का एक युवक पूरी तरह से स्वस्थ हो गया है। अब मात्र एम पॉजिटिव मरीज टांडा अस्पताल में उपचाराधीन है। हालांकि उसके स्वास्थ्य में भी काफी सुधार हाे रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।