मैड़ी मेला में प्लास्टिक व थर्मोकोल पर डीसी ने दलबल के साथ छेड़ा अभियान
March 3rd, 2020 | Post by :- | 131 Views

ऊना (3 मार्च)- 12 मार्च तक चलने वाले डेरा बाबा बड़भाग सिंह होली मेले के पहले दिन उपायुक्त ऊना संदीप कुमार ने दलबल के साथ प्लास्टिक व थर्मोकोल के खिलाफ अभियान छेड़ा। इस दौरान एडीसी अरिंदम चौधरी, एएसपी विनोद कुमार धीमान, एएसपी शमशेर सिंह तथा एसडीएम अंब तोरुल एस रवीश सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
डीसी ने दुकानकारों से प्लास्टिक के थैले जब्त किए और उन्हें प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने की चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि अभी चालान नहीं काटे जा रहे हैं सिर्फ चेतावनी दी जा रही है लेकिन दूसरे दिन से अधिकारी चालान भी काटेंगे और जुर्माना भी वसूला जाएगा। इसके अलावा उन्होंने लंगर स्थलों का भी निरीक्षण किया और कई जगहों पर थर्मोकोल का सामान पाया। संदीप कुमार ने अधिकारियों को थर्मोकोल की प्लेट तथा अन्य सामग्री जब्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने लंगर संचालकों से थर्मोकोल व प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने की अपील की और कहा कि हिमाचल प्रदेश में इन पर पूर्ण प्रतिबंध है, जिस पर सख्ती से अमल किया जाएगा।
इसके बाद उपायुक्त संदीप कुमार ने श्रद्धालुओं के रुकने के लिए की गई टैंट व्यवस्था का भी मुआयना किया। उन्होंने अधिकारियों व टैंट मुहैया कराने वाले ठेकेदारों को साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि पर्याप्त मात्रा में शौचालयों का निर्माण करना भी ठेकेदार की जिम्मेदारी है। उन्होंने श्रद्धालुओं को मिलने वाली सुविधाओं का जायजा लिया और लोगों से अपील की कि कूड़ा खुले में न फेंकें। अधिकारियों को निर्देश देते हुए संदीप कुमार ने कहा कि साफ-सफाई की व्यवस्था संबंधित ठेकेदार का भी जिम्मा है और मेला खत्म होने के उपरांत वह अपने क्षेत्र को साफ करके जाएं अन्यथा अगली बार उन्हें ब्लैकलिस्ट किया जाएगा। उन्होंने श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मेला स्थल में शौचालयों आदि के साइन बोर्ड लगाने को भी कहा।
इसके बाद डीसी ने मेला मजिस्ट्रेट तथा मेला सेक्टरों के साथ बैठक कर उन्हें उचित दिशा निर्देश भी दिए।
8 शटल बसों का प्रबंध
उपायुक्त ने कहा कि मैड़ी मेला के दौरान मालवाहक वाहनों में ओवरलोडिंग को रोकने के लिए प्रबंध किए गए हैं। पंजाब पुलिस के साथ मिलकर चार स्थानों पर इंटर स्टेट बैरियर स्थापित किए गए हैं। यह बैरियर आशादेवी, साधु चक्क, संतोषगढ़ तथा अजौली मोड़ पर बनाए गए हैं। यहां से आगे ओवरलोडिंग नहीं होने दी जाएगी और यहां से श्रद्धालुओं की सुविधा को देखते हुए 8 शटल बसों का प्रबंध किया गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।