Dear Love Birds! रिलेशनशिप को मजबूत नहीं, कमजोर बनाती हैं ये 5 बातें
April 12th, 2020 | Post by :- | 100 Views

किसी भी रिश्ते को परफेक्ट बनाने के लिए ऐसा कोई नियम नहीं है, जो सभी कपल्स पर फिट बैठ सके लेकिन रिश्ते को टिके रहने और मजबूत बनाने के ऐसी कुछ बातें जरूर हैं, जो दो लोगों के बीच होनी चाहिए। जैसे-परवाह, इज्जत,भरोसा, प्यार।
प्यार को लेकर लोगों के अपने-अपने विश्वास है। साथ ही रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए अपनी-अपनी थ्योरी भी हैं लेकिन क्या आप जानते हैं आपके कुछ विश्वास ऐसे हैं, जो किसी रिश्ते को मजबूत नहीं बल्कि कमजोर बना सकते हैं। आइए, एक नजर उन बातों पर

अपने पार्टनर से छोटी-छोटी बातें भी शेयर करना 
अपने पार्टनर को हर एक छोटी-छोटी बातें बताना आपकी परफेक्ट थ्योरी का हिस्सा हो सकता है लेकिन अक्सर हम भूल जाते हैं कि कुछ चीजें हैं जो हमें और हमारे स्वयं के अर्थ को परिभाषित करती हैं, जिन्हें निश्चित रूप से अपने तक ही सीमित रखे जाना चाहिए। इसका मतलब यह नहीं है कि आपको अपने साथी से झूठ बोलना चाहिए या सच्चाई से बचना चाहिए। इसका सिर्फ इतना मतलब है कि आपको अपने व्यक्तित्व को बनाए रखने और अपने साथी को सब कुछ बताने के लिए बंधा हुआ महसूस करने में सुधार करने की आवश्यकता है।

रिश्ते में समझौता करना 
एक रिश्ते में समझौता करना सीखना चाहिए! आपने यह बात अक्सर सुनी होगी लेकिन यह  पूरी तरह से बेतुकी बात है। असहमति किसी भी रिश्ते का एक हिस्सा है, लेकिन समझौता करते रहना आपके व्यक्तित्व के साथ आपके रिश्ते को कमजोर बनाता जाता है। एक रिश्ते में अपनी राय और विचार व्यक्त करना महत्वपूर्ण है। यदि आप समझौता और बातचीत के लिए झुकते चले जा रहे हैं, तो आप रिश्ता मजबूत नहीं बल्कि घसीटता हुआ चल रहा है।

सिर्फ देने की भावना रखो, बिना उम्मीदों के साथ
सब कुछ देते हुए और रिश्ते में बदले में कुछ भी नहीं लेने की उम्मीद करना एक मिथक है। एक  रिश्ते में सभी देने और लेने वाले हैं, और यहां तक कि अगर आप अपने आप को “देने वाले” व्यक्ति मानते हैं, तो कम से कम आप यह उम्मीद तो करेंगे ही कि आपका पार्टनर इसकी वैल्यू करेगा। अपने पार्टनर को सबकुछ देते रहना, बड़े दिल रखने वाली बात जरूर है, लेकिन एक हेल्दी रिलेशन वह है, जहां आप अपने साथी को प्यार और समर्थन प्रदान करते हैं।

अच्छे रिश्ते में कभी लड़ाई नहीं होती 
आप किसी रिश्ते में लड़ाई या झगड़े से कभी नहीं बच सकते। यदि आपको लगता है कि स्वस्थ, खुशहाल रिश्ते का मतलब है कि आपको और आपके साथी को कभी भी लड़ाई नहीं करनी चाहिए, तो आप गलतफहमी के शिकार हैं। यहां सवाल यह नहीं है कि कपल्स में कैसे लड़ाई होती है। असली सवाल यह है कि वे लड़ाई करते वक्त किन दायरों में रहते हैं।

जलन का मतलब प्यार है
जलन प्यार से नहीं बल्कि असुरक्षा की भावना (insecurity) से जुड़ी हुई चीज है। यदि कोई जलन करता है, तो इसका अर्थ है कि उसका पार्टनर यह विश्वास दिलाना पाने में कामयाब नहीं हो पाया है कि उसकी जगह कोई और नहीं ले सकता। जलन असुरक्षा की निशानी है और यह समय के साथ और बुरा हो सकता है। शुरुआत यह चीज प्यारी लगती है लेकिन आगे जाकर यह रिश्ते को कमजोर बनाता जाता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।