दिल्ली का होगा अपना शिक्षा बोर्ड, CBSE से इस तरह होगा अलग : मनीष सिसोदिया
September 10th, 2019 | Post by :- | 186 Views

दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि जल्द ही दिल्ली का अपना शिक्षा बोर्ड होगा, लेकिन वह सीबीएसई का स्थान नहीं लेगा, बल्कि यह अगली पीढ़ी का बोर्ड होगा जो जेईई और नीट जैसी प्रवेश परीक्षाओं की तैयारियों में छात्रों की मदद करेगा।

मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार बोर्ड को ऐसे रूप में देखती है जिससे वर्तमान हालात का निदान होगा। वर्तमान में छात्र स्कूलों की मदद से बोर्ड परीक्षाओं की तैयार करते हैं ,लेकिन उन्हें इंजीनियरिंग और मेडिकल की प्रवेश परीक्षा पास करने के लिए कोचिंग सेंटरों का सहारा लेना पड़ता है।

2015 से चल रहा है विचार

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, सिसोदिया ने कहा कि यह विडंबना है, लेकिन मैं इसे वरदान के रूप में देखता हूं कि दिल्ली में कोई शिक्षा बोर्ड नहीं है। हम दिल्ली को अपना शिक्षा बोर्ड देने की तैयारी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हमने 2015 में इसके बारे में सोचना शुरू किया और उस पर काम करना भी शुरू कर दिया। लेकिन जब हमने इमारतों की हालत देखी और कक्षाओं में शिक्षण के माहौल को महसूस किया तो हमें लगा कि नया बोर्ड बनाने के बजाय पहले ढांचागत सुधार करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि दिल्ली का अपना शिक्षा बोर्ड बनाने का वक्त आ गया है।

सीबीएसई का स्थान नहीं लेगा बोर्ड

सिसोदिया ने कहा कि सरकार इस पर काम कर रही है। यह सीबीएसई का स्थान नहीं लेगा बल्कि नई पीढ़ी का बोर्ड होगा। यह बोर्ड और इसका पाठ्यक्रम कैसा होगा इसके बारे में उन्होंने कहा कि अलग-अलग विषयों पर अलग-अलग ग्रेड देने की योजना है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।