ऊना में बढ़ी गेंहूं के बीज की डिमांड, जिला में 34 हजार हैक्टेयर भूमि पर होती है गेंहूं की खेती #news4
November 8th, 2021 | Post by :- | 163 Views

ऊना : ऊना जिला में इस दफा गेंहूं के बीज की डिमांड बढ़ गई है। ऊना में स्थित कृषि विभाग के बीज बिक्री केंद्र में किसान लंबी लंबी कतारों में लग कर बीज की खरीददारी कर रहे है। मौसम के मिजाज को देखते हुए किसानों ने गेंहूं की बिजाई को कदम बढ़ाने शुरू कर दिए है और बिजाई के लिए सरकारी बीज पर ही भरोसा जता रहे है। ऊना सब्जी मंडी में स्थित विभाग के बीज केंद्र में सुबह से ही किसानों की भीड़ जुटना शुरू हो गई थी तब कहीं जाकर किसानों को बीज मिल पाया। कृषि विभाग द्वारा केवल ऊना ब्लॉक में ही 4 हजार क्विंटल बीज की डिमांड भेजी गई है। वहीं जिला भर में इस बार 12 हजार क्विंटल से भी ज्यादा बीज की बिक्री होने की आशा है।

जिला ऊना को अन्न पैदा करने वाला जिला कहा जा है और जिला में 34 हजार हैक्टेयर भूमि पर गेंहूं की खेती की जाती है लेकिन इस दफा मौसम साथ देने के चलते  किसानों का गेंहूं की खेती के प्रति रुझान बढ़ गया है जिसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जिला में सरकार द्वारा दिए जाने वाले गेंहूं के बीज की डिमांड बढ़ती जा रही है। जिला में वर्ष 2019 में कृषि विभाग द्वारा 9 से 10 हजार क्विंटल बीज बेचा गया था जबकि वर्ष 2020 में विभाग द्वारा 12 हजार क्विंटल बीज मंगवाया गया था लेकिन इस दफा जिला में गेंहूं के बीज की डिमांड और ज्यादा बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है। विभाग द्वारा जितना भी बीज बिक्री केंद्रों में भेजा जा है वो हाथो हाथ ही बिक रहा है। इस बार ऊना ब्लॉक द्वारा ही 4 हजार क्विंटल बीज की डिमांड भेजी गई है। ऊना की सब्जी मंडी में स्थित बीज बिक्री केंद्र में बीज की खरीद के लिए सुबह से ही किसान लाइनों में लगना शुरू हो गए थे। बीज बिक्री केंद्र के अलावा विभाग द्वारा कई सोसाइटियों में भी बीज उपलब्ध करवा दिया है ताकि लोगों को बीज की खरीद के लिए दूर न जाना पड़े। कृषि विभाग के अधिकारी बलदेव शर्मा ने बताया कि विभाग द्वारा गेंहूं के बीज की तीन किस्में बिक्री के लिए उपलब्ध करवा दी गई है और किसान बीज खरीदने में खासी दिलचस्पी दिखा रहे है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।