देश के लिए मैडल जीतने वाले खिलाड़ी सड़कों पर मांग रहे चंदा, जानिए क्या है.
May 2nd, 2019 | Post by :- | 202 Views

धर्मशाला : सरकार जहां बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, कन्या समृद्धि योजना व खेलो इंडिया जैसे कार्यक्रम आयोजित कर खिलाडिय़ों का मनोबल बढ़ाने की बात करती है लेकिन वास्तव में यह बातें कागजों के पन्नों में सिमट कर रह गई हैं। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जिला कांगड़ा के साथ लगते ज्वाली क्षेत्र के बजरंग अखाड़ा के खिलाड़ी चंदा इकट्ठा करके अपने हुनर को सवारने में लगे हुए हैं। ये खिलाड़ी जसूर की सड़कों पर 10-20 रुपए मांगकर अपनी जरूरतें पूरी कर रहे हैं।

खिलाड़ियों ने प्रैस वार्ता में बयां किया अपना दर्द.

मंगलवार को बजरंग अखाड़ा के खिलाड़ियों अर्जुन, अभिलाषा, दीक्षा, काजल रीना व प्रियंका ने पत्रकारों से रू-ब-रू होते अपना दर्द बयां किया। उक्त खिलाड़ियों ने बताया कि इनमें से कुछ ऐसे खिलाड़ी भी हैं जो भूटान में आयोजित ओपन चैलेंज खेलों में गोल्ड मैडल व सिल्वर मैडल जीतकर देश का नाम रोशन कर चुके हैं। उक्त खिलाड़ियों ने बताया कि हमारे कोच बिना कोई फीस लिए उनके हुनर को संवारने में मदद कर रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि रैसलिंग, ताईक्वांडो जैसे खेलों में उन्होंने महारत हासिल की है लेकिन बजरंग अखाड़ा में पैसों की कमी के कारण अखाड़े में अभ्यास के लिए मैट व अन्य खेल उपकरण न होने से इन खिलाड़ियों के हुनर को संवारने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

3 खिलाड़ियों का कजाखिस्तान के लिए हुआ है चयन

खिलाड़ियों का कहना है कि 26 सितम्बर 2019 को कजाखिस्तान में आयोजित होने वाली खेल प्रतियोगिता के लिए भी इस अखाड़े से 3 खिलाड़ियों का चयन हुआ है लेकिन पैसे की कमी के कारण ये तीनों खिलाड़ी अपना अभ्यास करने में पिछड़ रहे हैं। उक्त खिलाड़ियों ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि उनकी आर्थिक मदद व अभ्यास के लिए अखाड़े में जरूरी खेल उपकरण मुहैया करवाए जाएं ताकि उन्हें अपनी खेल गतिविधियों को सुचारू रूप से चलाने में मदद मिल सके।

…तो खिलाड़ियों के साथ सड़कों पर कटोरा लेकर मांगें भीख

उधर, समाजसेवी संजय शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व ज्वाली के विधायक खिलाडिय़ों की आर्थिक तौर पर जल्द मदद करें। अगर राष्ट्रीय स्तर पर अपना अच्छा प्रदर्शन कर रहे जसूर के खिलाड़ियों को सरकार समय पर सुविधाएं मुहैया नहीं करवाती है तो उक्त खिलाड़ियों के साथ वह सड़कों पर कटोरा लेकर भीख मांगें

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।