पुलिस अधिकारियों की बैठक में बोले डीजीपी, बार-बार चालान वालों के लाइसेंस होंगे रद्द
May 31st, 2019 | Post by :- | 1011 Views

डीजीपी सीताराम मरडी ने कहा कि पुलिस ने प्रदेश में ई-चालान प्रणाली शुरू की है। इस प्रणाली के जरिये जुर्माने का ऑनलाइन भुगतान भी किया जा सकता है। पुलिस यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों का भी पता लगा पाएगी। जो बार-बार यातायात नियमों का उल्लंघन करते हैं। उल्लंघनकर्ताओं की पहचान होने पर उनसे ज्यादा जुर्माना वसूल किया जाएगा।

उनके लाइसेंस को भी रद्द करने के लिए संबंधित अधिकारियों से संपर्क किया जा सकेगा। धर्मशाला में उन्होंने कहा कि हिमाचल पुलिस ने ग्रेजुएट कांस्टेबलों को कई शक्तियां प्रदान की हैं। उन्होंने उत्तरी खंड धर्मशाला में कानून-व्यवस्था पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि उत्तरी खंड में आने वाले कांगड़ा, चंबा और ऊना जिले में आपराधिक गतिविधियों में कमी दर्ज की गई है।

लाहौल-धौलाकुआं में खुलेंगी पुलिस कैंटीन
मरडी ने कहा कि प्रदेश पुलिस ने अपने कर्मचारियों और पुलिस पेंशनरों के कल्याण के लिए प्रदेश भर में 16 कैंटीनें खोली हैं। इसी कड़ी में तीन अन्य स्थानों पर भी पुलिस कैंटीन खोली जाएंगी। इसमें लाहौल-स्पीति और धौलाकुआं शामिल होंगे।

पुलिस कैंटीनों में अब तक 350 करोड़ रुपये के सामान की बिक्री हुई है। पुलिस को 7 लाख रुपये कमीशन के रूप में मिले हैं। 50 हजार से अधिक पुलिस परिवार लाभान्वित हुए हैं।

सेविंग खातों में कम से कम नकदी रखें लोग 
प्रदेश भर में हो रही ऑनलाइन ठगी और एटीएम फ्रॉड पर डीजीपी मरड़ी ने लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि लोग अपने सेविंग खातों में कम से कम नकदी रखें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।