हिमाचल प्रदेश में दो जनवरी तक दिन-रात खुले रहेंगे ढाबे एवं रेस्तरां #news4
December 28th, 2022 | Post by :- | 56 Views

शिमला : हिमाचल में सैलानियों की सुविधा के दृष्टिगत रेस्तरां, ढाबे व खान-पान की अन्य दुकानें दो जनवरी तक दिन-रात खुली रहेंगी। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू की ओर से यह निर्णय शिमला से विधायक हरीश जनारथा, मनाली से विधायक भुवनेश्वर गौड़ और कसौली से विधायक विनोद सुल्तानपुरी के सुझाव व आग्रह पर लिया गया।

पर्यटकों को कोरोना संबधित सावधानियों पालन करने को कहा

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा यह निर्णय इस पर्यटन सीजन में प्रदेश में आने वाले पर्यटकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। राज्य सरकार इन प्रबंधों को आगे भी जारी रखने पर विचार कर सकती है, हालांकि इसमें संबंधित संस्थानों को कानून-व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग करना होगा। सुक्खू ने पड़ोसी देशों में कोविड-19 की बिगड़ती स्थिति को ध्यान में रखते हुए यहां आने वाले सैलानियों से कोविड-19 से सम्बन्धित सभी सावधानियों के अनुपालन का भी आग्रह किया। विधायकों इसके लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया है।

कोरोना से निपटने की व्यवस्था

कोरोना के संभावित खतरे से निपटने के मद्देनजर हिमाचल प्रदेश के अस्पतालों में मंगलवार को माक ड्रिल की कई। इस दौरान अस्पताल प्रबंधन की ओर से तैयारियों का जायजा लिया गया। संक्रमण से निपटने को अस्पतालों में लगाए उपकरणों की भी जांच की गई। केंद्र सरकार के निर्देश के बाद प्रदेश के सभी अस्पतालों में यह माक ड्रिल की गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सभी राज्यों को माक ड्रिल करने का निर्देश था। प्रदेश के भी सभी अस्पतालों में सभी उपकरणों को पूरी क्षमता के साथ संचालित किया गया। इसके तहत आक्सीजन प्लांट, वेंटिलेटर व अन्य ऐसे उपकरण जो कोरोना रोगियों के उपचार के लिए जरूरी होते हैं, सभी को चलाया गया।

आक्सीजन की न आए कमी, रखें ख्याल

केंद्र सरकार की ओर से जारी निर्देश में कहा गया था कि किसी भी अस्पताल में आक्सीजन की कमी नहीं होनी चाहिए। यानी अस्पताल प्रबंधन यह ध्यान रखे कि अगर किसी रोगी को आक्सीजन की जरूरत है और उसे नहीं मिल रही तो इसकी जिम्मेवारी अस्पताल प्रबंधन की होगी। अस्पताल के पास पर्याप्त संख्या में आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध होने चाहिए।

स्वस्थ्य प्रधान सचिव सुभाशीष पंडा ने कहा कि माक ड्रिल करके सुनिश्चित किया गया कि जरूरत पड़ने पर अस्पतालों में कोरोना रोगियों के उपचार के लिए पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। इसमें हर जिला और अस्पताल में स्वस्थ्य विभाग की ओर से कोई कमी सामने नहीं आई। सबसे जरूरी है कि प्रत्येक व्यक्ति कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक एहतियाती उपायों का पालन करे, ताकि संक्रमण से बचाव हो सके।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।