स्मार्ट सिटी डेटा के लिए धर्मशाला के डीआरडीए कार्यालय के सम्मेलन
July 16th, 2019 | Post by :- | 173 Views

स्मार्ट सिटी डेटा के लिए धर्मशाला के डीआरडीए कार्यालय के सम्मेलन कक्ष में आज मंगलवार को बैठक का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता सीडीओ एवं सीएफओ जतिन्द्र मोहन अवस्थी ने की। बैठक का मुख्य उद्देश्य धर्मशाला के लाइन विभागों और अन्य एजेंसियों को धर्मशाला स्मार्ट सिटी द्वारा की गई डेटा के बारे में जागरूक करना था।
अवस्थी ने बताया कि भारत सरकार के आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार, धर्मशाला के स्मार्ट सिटी को धर्मशाला के विभिन्न सरकारी विभागों से डेटा एकत्र करना है। सरकार के लिए डेटा संग्रह का उद्देश्य निर्णय लेने में सुविधा प्रदान करना है। उन्होंने विभिन्न सरकारी विभागों जैसे शिक्षा, पीडब्ल्यूडी, आईपीएच, बिजली तथा पुलिस विभाग आदि से निर्धारित डेटा प्रारूपों में डेटा एकत्र करने का अनुरोध किया। उन्होंने बताया कि डेटा उपलब्ध होने पर इसे सार्वजनिक और निजी उपयोग के लिए खुले डेटा पोर्टल(ओपन डेटा पोर्टल) पर रखा जाएगा। उन्होंने बताया स्मार्ट सिटी का उद्देश्य नागरिकों, शिक्षकों, शोधकर्ताओं, उद्यमियों, निजी और सार्वजनिक बाजार एजेंसियों, व्यापारियों आदि को इस खुले डेटा को उनके उद्देश्यों के लिए डेटा का उपयोग करने के लिए प्रदान करना है जो सभी हितधारकों को डेटा एनालिटिक्स और बुद्धिमत्ता के आधार पर गुणवत्ता निर्णय लेने में सक्षम करेगा।
उन्होंने स्मार्ट सिटी बनाने में डेटा के महत्व को इंगित किया और उपस्थित अधिकारियों को भारत सरकार की डेटा स्मार्ट सिटी पहल के बारे में बताया। आसिफ राव, आईओटी विशेषज्ञ, पीएमसी, धर्मशाला स्मार्ट सिटी द्वारा आंकड़ों के एजेंडे और पहल को समझाते हुए एक पावरपॉइंट प्रेजेंटेशन दिया गया।
इस अवसर पर एसडीएम हरीश गज्जू, एएसपी राजेश कुमार, स्मार्ट सिटी के सदस्य शम्मी राज, लेखा एवं डाटा अधिकारी बलदेव सैनी, आईओसी/एनओसी विशेषज्ञ, पीएमसी, डीएससीएल, क्षेत्रीय रोजगार अधिकारी रमेश कटोच सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व प्रतिनिधि उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।