धूमल ने कहा- पीएम मोदी के प्रयासों से दूर होगा कोरोना वायरस #news4
December 26th, 2021 | Post by :- | 80 Views

हमीरपुर : भाजपा के वरिष्ठ नेता और हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने तीन जनवरी से 15-18 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों का टीकाकरण करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्णय व घोषणा की सराहना की है।

बकौल धूमल, यह फैसला भारत की अगली पीढ़ी को उस खतरनाक वायरस से बचाने के लिए एक स्वागत योग्य कदम है, जो भारत सहित दुनिया भर में पहले से ही बहुत अधिक मौतें ले चुका है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री का ताजा फैसला न केवल बच्चों बल्कि बुजुर्गों और स्वास्थ्य देखभाल और फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए भी मददगार होगा, जिन्हें एक और बूस्ट डोज भी मिलेगी। प्रोफेसर धूमल ने कहा कि मोदी जी के मजबूत नेतृत्व में ही भारत ने भारतीय जनता को हर तरह की सुविधाएं मुहैया कराकर कोरोना महामारी को मजबूत हाथों से नियंत्रित करने में सफलता हासिल की है। उन्होंने कहा कि भारत ने मोदी जी के नेतृत्व में जो किया वह अमेरिका और ब्रिटेन जैसा कोई अन्य अग्रणी देश अपने नागरिकों के लिए नहीं कर सका, जबकि उनके पास विशाल संसाधन थे। भाजपा नेता ने कहा कि यह मोदी जी की इच्छा शक्ति थी जिसके कारण वायरस की दो तरंगों को नियंत्रित किया गया और तीसरे को भी नियंत्रित किया जाएगा क्योंकि भारत सरकार द्वारा ओमिक्रान संस्करण को नियंत्रित करने के लिए पूरे देश में एक मजबूत नेटवर्क पहले ही स्थापित किया जा चुका है।

पूर्व सीएम ने समय पर और सकारात्मक कदम उठाने के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद देते हुए कहा कि भारत के लोग संकट की स्थिति में अधिक से अधिक मदद करने के लिए मोदी जी को हमेशा याद रखेंगे। प्रोफेसर धूमल ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि देश में वायरस के ओमीक्रोन का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा क्योंकि लोगों की मदद करने और उन्हें इसके प्रकोप से बचाने के तरीके के बारे में शिक्षित करने के लिए समय पर कदम उठाए गए हैं।

उन्होंने लोगों से उचित देखभाल करने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चिकित्सा लोगों द्वारा सुझाए गए फेस मास्क पहनकर और सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए समग्र रूप से कोविड 19 दिशानिर्देशों का पालन करने की भी अपील की।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।