वर्ष 2023 में कर लें लाल किताब के मात्र 5 अचूक उपाय पूरा वर्ष बना रहेगा शुभ और शानदार #news4
November 22nd, 2022 | Post by :- | 52 Views
Lal kitab ke achuk upay 2023 : वर्ष 2023 शुरु होने वाला है। यदि आप चाहते हैं कि मेरा अगला वर्ष बहुत ही शुभ और सफल रहे। सभी तरह के संकटों का समाधान हो, धन की आवक बढ़े, पूरा वर्ष ही सुखपूर्वक व्यतीत हो और हर कार्य में सफलता मिले ‍किसी भी प्रकार की बाधा उत्पन्न न हो तो आप करें लाल किताब के आजमाए हुए मात्र 5 अचूक उपाय।
1. हनुमानजी को चौला चढ़ाएं और करें मंत्र का जप : वर्ष में कम से कम 2 बार हनुमानजी को चौला अवश्य चढ़ाएं। एक बार मंगलवार को और दूसरी बार शनिवार को। इससे हनुमानजी की कृपा आप पर बनी रहेगी और संपूर्ण वर्ष किसी भी प्रकार के संकटों से बचे रहेंगे। सभी तरह का मंगल दोष भी दूर हो जाएगा। बहते पानी में रेवड़ियां, बताशे, शहद या सिंदूर बहाएं। यह कार्य मंगलवार को करें तो ज्यादा अच्‍छा है। इससे हर तरह का मंगलदोष दूर हो जाएगा और संपूर्ण वर्ष अच्छा रहेगा। कभी-कभी आंखों में काला सूरमा लगाएं। कम से कम 11 दिन तक लगातार लगाएं। यह भी मंगल का उपाय है।
इसी के साथ हर मंगलवार को इस मंत्र का 108 बार जप करें- ॐ हनुमते नम:।
2. कंबल का दान : काला और सफेद दोरंगी कंबल लें और उसे अपने हाथों से किसी गरीब को दान कर दें या मंदिर में दान कर दें। यह कार्य आप एक बार भी कर सकते हैं। यह कार्य शनिवार को करें तो ज्यादा अच्छा है। ऐसा उपाय ठंड के मौसम में जरूर करें। अन्य मौसम में दोरंगी चादर दान कर सकते हैं। इससे सभी तरह के राहु और केतु के दोष दूर हो जाएंगे।
3. अंधों को भोजन खिलाएं : कम से कम 10 अंधों को आप भोजन जरूर खिलाएं। इसके अलावा किसी अपंग, सन्यासी या कन्याओं को समयानुसार भोजन कराएं। ऐसा वर्ष में 2 जरूर करें। इससे हर तरह का शनिदोष दूर हो जाएगा और संपूर्ण वर्ष शनि की कृपा बनी रहेगी। यदि यह कार्य नहीं कर सकते हैं तो पशु और पक्षियों को भरपेट भोजन कराते रहें और उन्हें अच्छे से पानी पिलाएं। कहते हैं कि जो व्यक्ति अपने परिवार के सभी सदस्यों से बराबर मात्रा में रुपए लेकर एक ही दिन में 100 गाय या कुत्तों को रोटी या हरा चारा खिलाता है उसके सभी संकट दूर हो जाते हैं।
4. तांबे का लौटा : तांबे के लोटे में जल भरकर उसे सिरहाने रखकर सोएं और सुबह उठते ही उसे बाहर ढोल दें या कीकर के वृक्ष में डाल दें। ऐसा कम से कम 11 और अधिकतम 43 दिन तक करें। इससे हर तरह के शारीरिक और मानसिक रोग दूर हो जाएंगे। इसे भी वर्ष में 2 बार अवश्य करें। यह आपकी सेहत को बनाए रखने के साथ ही चंद्र दोष भी दूर करेगा।
5. वृक्षों की सेवा करें : वर्ष में कम से कम 2 बार कहीं पर भी नीम, पीपल, बरगद, शमी या आम के वृक्ष लगाएं। कहते हैं कि जो व्यक्ति एक पीपल, एक नीम, दस इमली, तीन कैथ, तीन बेल, तीन आंवला और पांच आम के वृक्ष लगाता है, वह कभी भी नरक के दर्शन नहीं करता हैं। वह सभी तरह के संकटों से बचा रहता है। सभी तरह के ग्रह दोष दूर हो जाते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।