जलशक्ति विभाग में विभिन्न पदों की भर्ती की धांधली को लेकर मिले दस्तावेज : महेश्वर सिंह #news4
February 25th, 2022 | Post by :- | 124 Views

कुल्लू : कुल्लू जिला में जलशक्ति विभाग में विभिन्न पदों पर भर्ती हुई धांधली को लेकर महेश्वर सिंह ने सरकार और विभाग को कटघरे में खड़ा किया था। कुल्लू जिला के जलशक्ति विभाग में भर्ती में हुई धांधली कर स्थानीय पात्र उम्मीदवारों की अनदेखी हुई है और ऐसे में महेश्वर सिंह जलशक्ति विभाग की कार्यप्रणाली पर सवालियां निशान खड़े किए थे और अब इस मामले में मुख्यमंत्री से फिर निष्पक्ष जांच की मांग की है।

भाजपा के पूर्व सासंद एवं विधायक महेश्वर सिंह ने कहाकि जलशक्ति विभाग में पंप ऑप्ररेटर, पैरा फिल्टर, मल्टी टास्क वर्कर भर्ती में धांधली को लेकर उठाया था। उस मामले में कुछ दस्तावेज मेरे हाथ में लगे है। जलशक्ति विभाग विभिन्न पदों की भर्ती में आईपीएच के उच्च अधिकारी ने जलशक्ति विभाग के सभी एक्सईन को लैटर जारी कर क्लीनवेज कंपनी के सर्टिफिकेट को एज इंट इज  एक्सप्ट किया जाए और उसको वैरीफाई न किया जाए। उन्होंने कहाकि भर्ती के लिए क्लीनवेस कंपनी के द्वारा चयनीत उम्मीदवारो को एक्सपीरियेंस के नाम पर धांधली हुई है। जलशक्ति विभाग के अधिकारी का लैटर सीध करते है जलशक्ति विभाग में भर्ती को लेकर धांधली हुई है।

ठेकेदार के माध्यम से तैनात कर्मचारियों वेतन जाता है और जिनका ईपीएफ भी कटता है कमीशन भी कटती है, ऐसे में जो फर्जी सर्टिफिकेशन के तौर पर भर्ती हुई है, उनकी जांच की जाए इसको लेकर मुख्यमंत्री से भी आग्रह किया गया है। उन्होंने कहाकि ऑऊट सोर्स कर्मचरियों को रेगुलाईजर करने के लिए कर्मचारियों का डाटा नहीं मिल रहा है। ऐसे में चोर दरवाजे से सर्टिफिकेशन जारी किए जा रहे है। उसका एकाऊंट कैसे बनेगा। मुख्यामंत्री से फिर से आग्रह किया है, इसको लेकर उच्च अधिकारियों से जांच करवाए ताकि दूध का दूध पानी का पानी हो और कई विभाग में इस तरह की भर्तियां हुई है। ऐसे में महेश्वर सिंह ने मीडिया से बात करते हुए एक बार फिर से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से आग्रह किया है कि इस मामले की गंभीरता से जांच करवाई जाए ताकि कुल्लू के बेरोजगारों के साथ न्याय हो सके। क्योंकि कुल्लू विधानसभा क्षेत्र के साथ साथ जिला में इस नियुक्ति में बाहरी लोग भर्ती हुए हैं ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।