राजगढ़ के कारटू स्कूल में स्थाई शिक्षक न होने से 39 बच्चों का भविष्य दाव पर #news4
August 13th, 2022 | Post by :- | 105 Views

राजगढ़ : राजगढ़ ब्लाक के राजकीय प्राथमिक पाठशला कारटू देवठी मझगांव में बीते एक वर्ष से स्थाई तौर पर अध्यापक न होने से 39 बच्चों का भविष्य दाव पर लग गया है। जिस बारे स्थानीय गांव के लोगों ने सरकार व शिक्षा विभाग के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। स्कूल प्रबंधन समिति के अनुसार स्कूल भवन की हालत भी दयनीय हो चुकी है। बिजली के शाट सर्किट के चलते स्कूल भवन में बिजली सुविधा भी बीते कई महीनों से नहीं है जिस कारण बच्चेे बरामदे में बैठने का मजबूर है। जिसका विडियो स्थानीय लोगों द्वारा जारी किया गया है । एसएमसी प्रधान का कहना है कि शिक्षक न होने बारे बीते मार्च महीने के दौरान उनके एक प्रतिनिधि मंडल ने विधायक रीना कश्यप से भेंट की गई थी। जिनके द्वारा पाठशाला में शीघ्र अध्यापक भेजने का आश्वासन दिया गया था। मगर पांच माह बीत जाने के बावजूद आजतक किसी भी अध्यापक की नियुक्ति नहीं हो पाई है।

लोगों का कहना है कि शिक्षक न होने के कारण बच्चों का भविष्य धूमिल हो गया है । घर से बच्चे प्रातः स्कूल निकलते हैं और खेलकूद करके सांय को वापिस लौट आते हैं अर्थात बच्चों का पाठ्यक्रम अधूरा पड़ा है परंतु विभाग को बच्चों की कोई चिंता नहीं है । बता दें कि राजगढ़ ब्लाॅक के दूरदराज गांव की इस पाठशाला में अधिकतर बच्चे निर्धन व अनुसूचित जाति वर्ग से संबध रखते हैं । शिक्षा खंड राजगढ़ द्वारा इस स्कूल में बच्चों के पढ़ाने के लिए वैकल्पिक तौर पर डेपूटेशन पर देवठी मझगांव में क्रमवार शिक्षकों को भेजा जा रहा है । वर्तमान में सीएचटी राकेश शर्मा डियूटी दे रहे हैं। कारटू गांव की राधा देवी, सुहानी देवी, प्रदीप सहित अनेक लोगों का कहना है कि बीते वर्ष से लेकर एक मात्र शिक्षक की मांग सरकार से की जा रही है। परंतु उनकी इस गंभीर समस्या पर आजतक कोई गौर नहीं किया गया है। जिसके चलते ग्रामीणों में सरकार के प्रति रोष व्याप्त है। इनका कहना कि चुनाव के दौरान नेता बड़े बड़े वायदे करते हैं और जीत जाने के उपरांत भूल जाते हैं जोकि जनता के साथ बहुत बड़ा धोखा है।

पच्छाद कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजकुमार ठाकुर, संजीव शर्मा, परीक्षा चैहान, दिनेश आर्य, पच्छाद कॉंग्रेस के उपाध्यक्ष विवेक शर्मा सहित अनेक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कारटू स्कूल में अध्यापक न होने पर कड़ा संज्ञान लिया है। सरकार से इस पाठशाला में शिक्षक उपलब्ध करवाने की मांग की गई है । इनका कहना है कि कारटू स्कूल की तरह पच्छाद के अनेक स्कूलों की यही हालत है जहां पर स्टाफ की भारी कमी है। खंड प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी राजगढ़ राजकुमारी ने बताया कि स्कूल में रिक्त पदों बारे उच्चाधिकारियों को लिखा गया है। नए जेबीटी अध्यापकों की नियुक्ति होने पर कारटू में स्थाई शिक्षक उपलब्ध्ध करवा दिया जाएगा, तब तक वैकल्पिक व्यवस्था कर दी गई है ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।