Electric Buses:धर्मशाला में चार सदस्यीय टीम ने पांच रूटों पर करवाया इलेक्ट्रिक बसों का ट्रायल, निदेशालय भेजी रिपोर्ट #news4
September 10th, 2022 | Post by :- | 92 Views

धर्मशाला : स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत जल्द ही शहर समेत जिले के अन्य क्षेत्रों के लोग इलेक्ट्रिक बसों में सफर कर पाएंगे। धर्मशाला स्मार्ट सिटी लिमिटेड और हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) के अधिकारियों ने इलेक्ट्रिक बस का पांच रूटों पर सफल ट्रायल भी कर लिया है। ट्रायल की रिपोर्ट एचआरटीसी के निदेशालय को भेज दी गई है और उम्मीद है कि जल्द ही पहली खेप में आने वाली पंद्रह बसों में अन्य 14 बसें भी धर्मशाला पहुंच जाएगी।

ट्रायल के लिए एक इलेक्ट्रिक बस मंगवाई गई थी और ट्रायल को लेकर धर्मशाला के अंतरराज्यीय बस स्टैंड में एक चार्जिंग स्टेशन भी स्थापित किया गया था, ताकि ट्रायल के दौरान चार्जिंग की किसी प्रकार की असुविधा उत्पन्न न हो। एचआरटीसी और धर्मशाला स्मार्ट सिटी लिमिटेड की ओर से करवाए गए ट्रायल में पांच रूटों को लिया गया था। इन रूटों में धर्मशाला से सतोवरी और वापस धर्मशाला, धर्मशाला-कांगड़ा वाया कनेड और वापस धर्मशाला, धर्मशाला-टंग वाया खनियारा और वापस धर्मशाला जबकि धर्मशाला से मैक्लोडगंज और वापस धर्मशाला शामिल रहे।

तीस करोड़ रुपये होने हैं खर्च

स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत धर्मशाला शहर समेत अन्य क्षेत्रों में चलने वाली बसों व चार्जिंग स्टेशन पर करीब 30 करोड़ रुपये की धनराशि खर्च होगी। इनमें तीस सीटर क्षमता वाली पंद्रह बसें आएंगी और छह चार्जिंग स्टेशन स्थापित होंगे। इनमें से एक बस ट्रायल के लिए पहले ही आ चुकी है अन्यों के जल्द आने की संभावना है। वहीं धर्मशाला बस स्टैंड में एक चार्जिंग स्टेशन भी स्थापित किया जा चुका है।

यहां स्थापित होंगे चार्जिंग स्टेशन

इलेक्ट्रिक बसों के लिए स्थापित होने वाले चार्जिंग स्टेशनों में तीन चार्जिंग स्टेशन एचआरटीसी की धर्मशाला स्थित कर्मशाला में स्थापित होने हैं। जिनका पहले ही कार्य शुरू किया जा चुका है। वहीं दो चार्जिंग स्टेशन धर्मशाला बस स्टैंड में स्थापित होने हैं। इनमें से एक स्थापित किया जा चुका है। इसके अलावा एक चार्जिंग स्टेशन कांगड़ा बस स्टैंड में स्थापित किया जाएगा।

पर्यावरण संरक्षण में बनी सहायक

इलेक्ट्रिक बसें पर्यावरण संरक्षण में सहायक बनेंगी। बढ़ते वाहनों के बीच हर कोई अपना वाहन इस्तेमाल कर रहा है। जिससे पर्यावरण प्रदूषण भी बढ़ रहा है। इन बसों के आने से पर्यावरण संरक्षण भी होगा।

एचआरटीसी के डीडीएम पंकज चड्ढा ने कहा कि इलेक्ट्रिक बस को लेकर ट्रायल किया जा चुका है, जोकि सफल रहा है। ट्रायल की रिपोर्ट निदेशालय को भेज दी गई है। जल्द बसें आ जाएंगी। ट्रायल चार सदस्यीय टीम ने करवाया है। जिसमें एचआरटीसी के डीएम राजकुमार जरयाल, डीडीएम पालमपुर पंकज चड्ढा, आरएम धर्मशाला राजन जंबाल व धर्मशाला स्मार्ट सिटी लिमिटेड के महाप्रबंधक संजीव सैणी भी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।