जयराम सरकार की विदाई के लिए कर्मचारी ही काफी : विक्रमादित्य सिंह #news4
November 3rd, 2022 | Post by :- | 70 Views

मंडी : शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि जयराम सरकार की विदाई के लिए प्रदेश के कर्मचारी ही काफी हैं। पिछले पांच साल में सरकार ने कर्मचारियों का उत्पीड़न किया है। OPS की मांग करने वालोंं पर डंडा चलाया है। कांग्रेस पार्टी प्रदेश भर में मजबूती के साथ चुनावी मोर्चे पर डटी है। भारी बहुमत के साथ मजबूत सरकार बनाएंगे। सुबह निर्णय लेकर शाम को पलटने वाली सरकार प्रदेश की जनता को नहीं चाहिए। विक्रमादित्य सिंह वीरवार को नाचन विस क्षेत्र के कनैड़ में कांग्रेस प्रत्याशी नरेश चौहान के पक्ष में आयोजित चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे।

करोड़ों फूंकने के बाद फूटी कौड़ी का निवेश नहीं आया

उन्होंने कहा कि प्रदेश भर में बदलाव की लहर चल रही है। हार के डर से भाजपा के बड़े नेताओं ने यहां डेरा डाल रखा है। विपक्ष में रहते हुए कांग्रेस ने किसानों, बागवानों, मजदूरों व कर्मचारियों की समस्याओं को विधानसभा के अंदर व बाहर प्रमुखता से उठाया है। प्रदेश में निवेश के नाम पर जयराम सरकार ने युवाओं को कई सपने दिखाए थे। करोड़ों रुपये फूंकने के बाद भी फूटी कौड़ी का निवेश नहीं आया। 14 लाख बेरोजगार युवा जरूर सड़क पर आ गए। सराज व धर्मपुर के युवाओं को नौकरी दी गई। अन्य क्षेत्रों के युवाओं के साथ भेदभाव किया। नाचन के विधायक विनोद कुमार पांच साल तक ठेकेदारी करते रहे। उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से पूछा कि उनके ड्रीम प्रोजेक्ट का आखिर क्या हुआ।

क्या भाजपा में रजवाड़े नहीं

गृह मंत्री अमित शाह के राजपरिवार वाले बयान पर विक्रमादित्य सिंह ने पलटवार करते हुए पूछा कि क्या भाजपा में सिंधिया, महाराजा पटियाला व महेश्वर सिंह जैसे रजवाड़े नहीं हैं। जय शाह ने कब बल्ला उठाया। परिवारवाद की बात करना भाजपा नेताओं को शोभा नहीं देता है। भाजपा अगर परिवारवाद के इतने खिलाफ है तो चेतन बरागटा, रजत ठाकुर सहित तीन अन्य स्थानों पर एक ही परिवार से क्यों टिकट दिए गए। बीसीसीआइ में अमित शाह के बेटे जय शाह सचिव हैं। अमित शाह बताएं कि जय शाह ने कब बल्ला उठाया था व कब गेंदबाजी की थी।

जयराम ठाकुर को कांग्रेस में आने का न्योता

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि वीरभद्र परिवार 1962 से कांग्रेस पार्टी से जुड़ा है। उन्हें कहीं जाने की जरूरत नहीं है। चुनाव के नतीजे आने के बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के पास कोई काम नहीं होगा। उनके लिए कांग्रेस के दरवाजे खुले रहेंगे। जब मर्जी कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर लें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।