अस्पताल में भी जरूरी नहीं समझ रहे शारीरिक दूरी #news4
August 2nd, 2022 | Post by :- | 89 Views

शिमला : प्रदेश सहित जिले में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। हैरानी की बात है कि लोग प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल इंदिरा गांधी मेडिकल कालेज (आइजीएमसी) में ही नियमों का पालन भूल रहे हैं। यहां पर लोग शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं कर रहे हैं, वहीं कुछ लोग तो बिना मास्क के ही अस्पताल में दिख रहे हैं। लोगों की लापरवाही कोरोना संक्रमण के मामलों को बढ़ा सकती है।

सरकार के आदेश के बाद लोगों ने मास्क पहनना तो शुरू कर दिया है, लेकिन शारीरिक दूरी के नियम का पालन अभी तक नहीं कर पा रहे हैं। अस्पताल में मेडिसिन या किसी अन्य विभाग की ओपीडी हो या टेस्ट करवाने के लिए लगी लोगों की कतारें, सभी स्थानों पर शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं हो रहा है। हालांकि अस्पतालों में सबसे पहले सख्ती लागू की गई है। इसके बावजूद यहीं पर नियमों की अनदेखी भी हो रही है।

मंगलवार को अस्पताल के पर्ची व कैश काउंटर से लेकर हर ओपीडी में लंबी कतारें देखने को मिलीं। लोग एक-दूसरे के साथ मिलकर खड़े थे। अस्पताल प्रशासन की ओर से इन स्थानों पर शारीरिक दूरी के नियमों का सख्ती से पालन करवाने के लिए कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। अस्पताल की ओपीडी ही नहीं, बल्कि एक्सरे व अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए भी भीड़ जुट रही है। यहां से दूसरी तरफ के लिए पार जाना भी मुश्किल हो रहा है। मेडिसिन ओपीडी व लैब में लग रही सबसे ज्यादा भीड़

मरीजों की सबसे ज्यादा भीड़ आइजीएमसी की मेडिसिन ओपीडी व लैब के सामने लग रही है। यहां पर सुबह नौ से तीन बजे तक हालात में कोई सुधार नहीं हो रहा है। मरीज ओपीडी में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। कई मरीज जमीन पर बैठकर भी अपनी बारी का इंतजार करते दिखे। अस्पताल परिसर में दवा की दुकान के बाहर भी लोग झुंड में दिख रहे हैं। लोगों ने सिर्फ मास्क लगाए हुए थे। दुकानों के बाहर ऐसा लग रहा है कि लोग दवा के साथ कोरोना को भी खरीदने के लिए यहां पहुंच रहे हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।