बारिश भी फीका नहीं कर पाई करसोगवासियों का देशभक्ति का जज्बा, एसडीएम ने किया ध्वजारोहण #news4
August 15th, 2022 | Post by :- | 82 Views

करसोग : Independence Day 2022, मंडी जिला के करसोग में देश की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर आजादी का अमृत महोत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। यहां सोमवार को राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के प्रांगण में उपमंडलस्तरीय समारोह आयोजित किया गया।

इसमें एसडीएम सुरेंद्र ठाकुर ने ध्वजारोहण कर तिरंगे को सलामी दी। इस मौके पर पुलिस की टुकड़ी ने भी मार्चपास्ट करते हुए तिरंगे को सलामी दी। आजादी के अमृत महोत्सव पर उपमंडल के तहत करीब 11 स्कूलों के छात्रों ने देशभक्ति गीतों की प्रस्तुति दी, जिससे स्कूल प्रांगण देशभक्ति के तरानों से गूंज उठा। रात से लगातार हो रही बारिश भी करसोगवासियों के देशभक्ति के जज्बे को नहीं रोक पाई। लोगों ने अपने-अपने घरों में तिरंगा फहराया और पंचायत स्तर पर भी तिरंगा यात्रा निकाल कर आजादी का महोत्सव मनाया गया।

इस अवसर पर उपमंडल स्तर पर भी सभी स्कूलों में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित हुए, जिसमें बच्चों ने देशभक्ति के गीतों से देश की आजादी के लिए जान कुर्बान करने वाले वीर सपूतों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

एसडीएम ने क्या कहा

एसडीएम सुरेंद्र ठाकुर ने कहा कि 15 अगस्त 1947 को हमें ब्रिटिश शासन के करीब 200 सालों के राज से आजादी मिली थी। यह दिन हमें आजादी के नायकों के त्याग, तपस्या और बलिदान की याद दिलाता है। आजादी का त्योहार हमारी स्वतंत्रता का प्रतीक है। यह दिन में एक स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में हासिल उपलब्धियों के जश्न मनाने का है। करसोग की सभी पंचायतों में भी तिरंगा फहराया गया। विभिन्न महिला मंडलों, युवक मंडलों सहित लोगों ने देश भक्ति आजादी का पर्व मनाया।

विधायक ने किया ध्वजारोहण

स्थानीय विधायक हीरालाल ने कुन्हों में ध्वजारोहण किया। उन्होंने अमृत सरोवर में पौधारोपण किया, जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया। हीरालाल ने सभी करसोगवासियों को आजादी के अमृत महोत्सव पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि देश को आजादी दिलाने के लिए लाखों वीर सपूतों ने बलिदान दिया है। ऐसे में देश उन क्रांतिवीरों का ऋणी है, जिन्होंने देश को गुलामी की जंजीरों से मुक्त कराने के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।