आबकारी विभाग और पुलिस की कार्रवाई: मंडी और हमीरपुर के बाद सोलन में अवैध शराब का पर्दाफाश, मकान सील #news4
January 29th, 2022 | Post by :- | 109 Views

हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी और हमीरपुर के बाद सोलन में भी अवैध शराब के धंधे का पर्दाफाश हुआ है। जिसमें पुलिस ने दबिश देकर रामशहर के लोहारघाट के समीप बलेचडी में एक दो मंजिला मकान से खाली बोतलें, बोतलें धोने वाली मशीन, खाली ड्रम, बैच पंचिंग मशीन और वीआरवी लेवल भी बरामद किए हैं। इसके अलावा यहां पर देसी शराब की अवैध बाटलिंग की जा रही थी। रामशहर पुलिस ने राज्य कर एवं उत्पाद शुल्क सोलन के उपायुक्त हिमांशु पवंर की शिकायत पर मामला दर्जकर मकान को सीज कर लिया है। जानकारी के अनुसार रामशहर के लोहारघाट के साथ लगते जंगल बलेचडी में एक दो मंजिला मकान है। इस मकान को कुछ समय पहले बिलासपुर के रहने वाले अमरजीत गार्ड ने बनाया था।

लेकिन उसने भी चार साल पहले किसी प्यारू नाम के व्यक्ति को बेच दिया। जैसे पुलिस की टीम आबकारी एवं कराधान विभाग के कर्मचारियों के साथ मौके पर गई तो खाली बोतलें और बोतल धोने की मशीन इमारत की छत पर पड़ी थी। मकान का भूतल भवन खुला पाया गया और वहां 200 मिलीलीटर क्षमता के तीन खाली ड्रम पड़े थे। प्रथम तल का मुख्य द्वार बंद था इसलिए इमारत के मालिक से संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन मालिक का पता नहीं चल सका। इसके बाद सौर पंचायत के पंचायत प्रधान बृजलाल शर्मा को मौके पर बुलाया गया।

प्रधान की देखरेख में सौर पंचायत के देवीलाल एएसआई हेमराज व शशि ने मकान मालिक का पता किया, लेकिन काफी प्रयास करने पर पता नहीं चला तो सभी लोगों के सामने पुलिस ने मकान के ताले तोड़े तो कुछ सामग्री जैसे वीआरवी फूल्स लिमिटेड-वीआरवी संतरा के लेबल वाली खाली बोतलें, अपर्युक्त होलोग्राम, बैच पंचिंग मशीन, उस पर मुद्रित टेप रोल वीआरवी फूड्स लिमिटेड संसारपुर टेरस की दो बोतलें व 200 लीटर क्षमता के पांच खाली ड्रम मिले। यह सारी सामग्री इस ओर इशारा करती है कि परिसर में देशी शराब की अवैध बॉटलिंग की जा रही थी। उधर, डीएसपी नवदीप सिंह ने बताया कि पुलिस ने मकान को सील कर लिया है व मकान मालिक का पता लगाया जा रहा है। पुलिस ने आबकारी कराधान अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।