ग्लोबल इन्वेस्टर मीट में लगे प्रदर्शनी स्टॉल नौ नवंबर को जनता के लिए खुले रहेंगे
November 6th, 2019 | Post by :- | 148 Views

ग्लोबल इन्वेस्टर मीट में लगे प्रदर्शनी स्टॉल नौ नवंबर को जनता के लिए खुले रहेंगे। सुबह दस से शाम पांच बजे तक कोई भी इन्वेस्टर मीट में लगी प्रदर्शनी का अवलोकन कर सकता है। प्रदर्शनी स्टॉल में सबसे ज्यादा पैसा पर्यटन, ऊर्जा और आईटी विभाग खर्च कर रहा है। तीनों विभाग लगभग 90 लाख खर्च कर रहे हैं। इसके अलावा अन्य विभागों की प्रदर्शनी पर पांच से 15 लाख के बीच का बजट खर्च हुआ है। प्रदेश सरकार के विभिन्न विभागों ने इन्वेस्टर मीट के प्रदर्शनी पंडाल में कुल 47 स्टॉल बुक करवाए हैं।

ऊर्जा विभाग के छह, लोक निर्माण विभाग के दो, पर्यटन के सात, आईटी के दो, एचपीएमसी का एक, बागवानी परियोजना और उद्यान विभाग के तीन, कृषि का एक, शिक्षा का एक, आयुर्वेद के दो, शहरी विकास विभाग के दो, स्वास्थ्य विभाग के दो, रोपवे के तीन, आईपीएच का एक, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग का एक, उद्योग विभाग के चार, एलएसी के दो, ग्रामीण देव-जनमंच का एक, कौशल विकास निगम का एक, भुट्टिको सोसायटी का एक, हथकरघा निगम के दो, नाबार्ड एक स्टॉल प्रदर्शनी में लगाएगा।

केंद्र सरकार के मंत्रालय और संस्थाएं लगाएंगी प्रदर्शनी
केंद्र सरकार के मंत्रालयों और संस्थाओं ने इन्वेस्टर मीट की प्रदर्शनी पर पैसा खर्च किया है। केंद्र के संगठनों ने प्रदर्शनी पंडाल में 17 स्टॉल बुक किए हैं। जिसमें एसजेवीएन ने चार, डीजी टूरिज्म ने तीन, सीपीएमजी ने चार, एमएसएमई ने तीन और इन्वेस्ट इंडिया तीन स्टॉल में प्रर्दशनी लगाएगी।

वर्धमान ने सबसे पहले तैयार किया स्टॉल 
ग्लोबल इन्वेस्टर मीट की प्रदर्शनी पंडाल में देश-विदेश की निजी कंपनियों और संगठनों ने 25 स्टॉल बुक किए हैं। जिसमें वर्धमान ने सबसे पहले प्रदर्शनी स्टॉल बनाकर तैयार कर दी है। इसके अलावा ईईपीआईएन ने सबसे ज्यादा चार, एसीसी ने एक, वर्धमान ने तीन, नेस्ले ने एक, रोशनी इंटरप्राइजेज ने एक, सीडब्ल्यूसी ने एक, आईएनडी एसपीएचआईएनके ने दो प्लस कॉर्नर, नीदरलैंड पाव ने दो, पीआईओसीसी ने एक, ईपीआईएल ने दो और मोंडलेज चार स्टॉल में प्रदर्शनी लगाएंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।