Facebook twitter wp Email affiliates फोरलेन संघर्ष समिति ओर व्यापार मंडल पांवटा ने की एनएचएआई प्रोजेक्ट डायरेक्टर एवं अधिकारियों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की मांग की #news4
April 25th, 2022 | Post by :- | 75 Views

नाहन : जिला सिरमौर के पांवटा साहिब से शिलाई गुम्मा निर्माणाधीन नेशनल हाईवे 707 पर लगातार अनियमितताएं बढ़ती जा रही हैं। अनियमितताओं को लेकर फोरलेन संघर्ष समिति तथा व्यापार मंडल पांवटा साहिब ने मांगों को लेकर एक ज्ञापन एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को भेजा। इसके साथ ही डीएसपी पांवटा साहिब व प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के अधिशाषी अभियंता को भी अलग से ज्ञापन देकर कानूनी कार्रवाई की मांग की गई है। ज्ञापन में एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर सहित अन्य अधिकारियों और एनएच 707 पर काम कर रहे ठेकेदार के विरुद्ध कानूनी कार्यवाही की मांग प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन से की गई है।

फोरलेन संघर्ष समिति एवम व्यापार मंडल के अध्यक्ष अनिंदर सिंह नाटी, जीत सिंह बाजवा, तरलोचन सिंह, राजेश चौहान, बलजीत सिंह, तीरथ सिंह, विकी मानिकतला, अश्वनी गुलेरिया, नानक, धर्म सिंह, भजन सिंह, सनी खेरा, हरमेल सैनी, करण ठाकुर, राकेश आनंद सहित दर्जनों प्रभावित लोगों ने बताया कि पांवटा साहिब गुम्मा (एनएच 707) के बद्रीपुर चौक से लेकर राजबन तक के 10 किलोमीटर खंड में जो सड़क के दोनोंं तरफ नाली बन रही है, वो 5 फुट तक ऊंची है। जिसकी वजह से सभी किसानों, मकानों, उद्योगों, दुकानों, प्लॉट के रास्ते बंद हैं। स्कूली बच्चे और बुजुर्ग घरों में कैद से हो गए हैं। इतना ऊंचा ड्रेन पूरे भारत के किसी राज्य में नहीं बना है। पब्लिक के रास्ते बंद करना भी एक अपराध है। विभाग और ठेकोदार की लापरवाही से जहां दो साल से शहर के बीचों बीच से लेकर इस सड़क को खोद कर रख दिया गया है। जिसके कारण गंभीर सांस की बीमारी से लोगों की जान खतरा में है। हवा में धूल से प्रदूषण का स्तर जान को खतरा होने तक अधिक है। वहीं दुकानों का करोड़ों का समान खराब हो चुका है। सड़क की खराब हालत और बरसात में फिसलन, उड़ती धूल के कारण अनेक एक्सीडेंट दोपहिया वाहनों और पैदल चलने वालों के हो चुके हैं और यह गैर ईरदातन हत्या या नुकसान पहुंचाने की कानूनी धारा में आता है।

जनता की पीने के पानी की लाइन 10 किलोमीटर के क्षेत्र में दोनो तरफ तोड़ दी गई, जिसको जनता ने अपने पैसे से दोबारा ठीक करवाया है, जो सरकारी संपत्ति के साथ साथ जनता को जान बूझ कर नुकसान पहुंचाने की कोशिश भी है। वहीं मौके पर निर्माण में बेहद घटिया सामग्री का प्रयोग किया जा रहा है। जो मापदंडों के अनुकूल नहीं है। यह एक बरसात भी झेलने वाला नही है, जो पब्लिक के टैक्स के पैसे की बरबादी भी है और भ्रष्टाचार की धारा के अधीन भी संगीन मामला है। फोरलेन संघर्ष समिति तथा व्यापार मंडल पांवटा साहिब को पूर्ण विश्वास हैं की सरकार व प्रशासन इस शिकायत पर जल्द कार्यवाही करेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।