FacebooktwitterwpEmailaffiliates शिमला सचिवालय में प्रवेश की समस्या का हुआ समाधान, मंत्री दीपकमल जाकर लोगों की समस्याएं सुनेंगे #news4
December 1st, 2021 | Post by :- | 72 Views

शिमला : सचिवालय में प्रवेश करने की बड़ी समस्या रहती है, जिसके फलस्वरूप लोग मंत्रियों से नहीं मिल पाते। अब ऐसा नहीं होगा, प्रदेश के दूर दराज क्षेत्रों से समस्याएं लेेकर आने वाले लोगों को प्रदेश सचिवालय में मंत्रियों से मिलने का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। सरकार के सभी ग्यारह मंत्री तय करेंगे कि उन्हें भाजपा मुख्यालय कब-कब बैठने के लिए समय सुनिश्चित करना है।

उपचुनाव के नतीजे आने के बाद सरकार ओर संगठन के बीच में समन्वय स्थापित करने की दृष्टि से नया फार्मूला निकाला गया है। सरकार के सभी सप्ताह में दो दिन दीपकमल में बैठेंगे और लोगों की समस्याएं सुनेंगे। ऐसे में लोगों को सचिवालय में भटकना नहीं पड़ेगा। लोगों से प्राप्त होने वाले आवेदन और शिकायतों के निवारण करने पर कार्य होगा। अब किसी भी कार्य दिवस के दौरान सचिवालय भी सुनसान नहीं होगा। मंत्रियों को दो दिन सचिवालय में बैठना सुनिश्चित करना होगा।

सीएम के निर्देश

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सभी मंत्रियों को इस पर तुरंत अमल करने को कहा है। ताकि लोगों की समस्याओं का समाधान हो सके। ऐसा देखने में आ रहा था कि कई दिन कोई भी मंत्री अपने कार्यालय नहीं पहुंच रहे थे। उपचुनाव के बाद तो कई बार सचिवालय में एक मंत्री बैठा होता था, दोपहर बाद वह मंत्री भी उपलब्ध नहीं रहता था।

दीपकमल हो या राजीव भवन

ऐसा पहले से देखा जा रहा है कि किसी भी सरकार के अंतिम वर्ष में मंत्रियों के पार्टी मुख्यालय में बैठने की व्यवस्था होती है। पिछली कांग्रेस सरकार के समय में भी मंत्री लिफ्ट स्थित कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में जन समस्याएं सुनने के लिए बैठते थे। अब भाजपा सरकार के मंत्री भी भाजपा मुख्यालय दीपकमल में बैठते नजर आएंगे।

अब मंत्री चार दिन शिमला में होंगे

सरकार के मंत्री सप्ताह के चार दिन शिमला में नजर आएंगे। दो दिन सचिवालय में बैठेंगे और दो दिन चक्कर स्थित भाजपा मुख्यालय दीपकमल में। नहीं तो देखने में आ रहा था कि अधिकांश मंत्री अपने विधानसभा क्षेत्रों में ही दिखते थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।