फूफा ही निकला नाबालिग का बलात्कारी, लोक-लज्जा के डर से नाबालिग ने बच्ची को फेंका था खिड़की से बाहर
September 26th, 2019 | Post by :- | 480 Views

रोहडू के सरकारी अस्पताल में बीते दो दिनों पहले शौचालय के बाहर एक नवजात बच्ची के खिड़की के बाहर फैंकने के मामले से सनसनी फैली हुई है। किसी को यह समझ नहीं आ रहा था कि बच्ची का शव अस्पताल के प्रांगण के बाहर कहां से आया। हर किसी के जहन में यह सवाल बार-बार कौंद रहा है। आखिर रोहडू पुलिस ने डीएसपी सुनील नेगी की अगुवाई में इस मामले पर एक ही दिन के बाद परदा खोल दिया है।

नवजात बच्ची को जन्म देने वाली मां छौहारा क्षेत्र की रहने वाली एक 15 साल की नाबालिग है। जिसकी आबरू लुटने वाला कोई और नहीं बल्कि उसका अपना फूफा (बुआ का पति) ही निकला, जिसकी उम्र 30 से 32 साल बताई जा रही है, जिसे पुलिस ने घटना के एक दिन बाद ही गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस के अनुसार सिविल अस्पताल रोहडू में बुधवार देर रात तीन बजे मां-बाप अपनी नाबालिग युवती को लेकर शरीर में दर्द होने की शिकायत को लेकर पहुंचे, जिसमें डाक्टरों ने नाबालिग की आंरभिंक जांच करनी शुरू की। इस दौरान युवती बार-बार शौचालय की ओर भी जाती रही और काफी समय बाद जब नहीं लौटी तो वह शौचालय में भी नहीं पाई गई औऱ वह वहां से घर को चली गई। इस दौरान ही नाबालिग ने बच्ची को शौचालय में जन्म दे दिया, जिसके बाद उसने लोक-लज्जा के डर से बच्ची को जन्म देकर उसे खिड़की से बाहर फेंकने का जघन्य अपराध कर डाला।

वहीं पुलिस को दिए बयान के अनुसार मां-बाप को भी नाबालिग युवती के गर्भवती होने की सूचना नहीं थी। बेटी ने मासिक धर्म में समस्या बताई थी। जिसके बाद वह उस अस्पताल रात को चैकअप करने के लिए आए थे। डीएसपी रोहडू सुनील नेगी ने बताया कि इस मामले मे पुलिस ने छानवीन करते हुए आरोपी को पोक्सों व आईपीसी की धारा 376 के तहत गिरफ्तार कर लया है, और मामले की छानबीन में जूट गई हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।