सेब के पौधों पर खिलने लगे बागवानों की उम्मीदों के फूल
March 31st, 2019 | Post by :- | 112 Views

हिमाचल में सेब की खेती करने वाले किसानों को बागवानी विशेषज्ञों  की ओर से ज्यादा और अच्छी पैदावार के लिए मधुमक्खियों के इस्तेमाल की सलाह दी गई है। अभी सेब के पेड़ों पर फूलों के खिलने की प्रक्रिया चल रही है। ऐसे में अगर इस समय मधुमक्खियों का इस्तेमाल हो तो ज्यादा फायदा होगा।

हिमाचल में मधुक्खियों की मांग को लेकर पंजाब और हरियाणा के मधुमक्खी पालकों की ओर से शिमला की ओर रूख किया गया है। सेब किसान अच्छी किस्म की मधुमक्खियों के एक बक्से का किराया 8 सौ से भी ज्यादा दे रहे है।

छौहारा के उद्यान विकास अधिकारी डॉ. कुशल मैहता का कहना है कि मधुमक्खियां परागण प्रक्रिया को सफल बनाने में बेहतरीन कार्य करती है। इसलिए बागवान परागण प्रक्रिया के लिए मधुमक्खिों का इस्तेमाल करें।  

अप्पर शिमला में सेब के बागीचों के पेड़ों पर फूलों के खिलने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। फलावरिंग की इस बेहद सवेंदनशील प्रक्रिया को सही ढंग से निपटाने के लिए बागवान बागीचों मे मेहनत कर रहे हैं। सेब की पैदावार फलावरिंग व पालिनेशन पर पुरी तरह से निर्भर रहती है ऐसे में परागण की इस प्रक्रिया का सही ढंग से निपट जाना बागवानों के लिए हमेशा अहम रहता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।