साबधान-: हिमाचल में चल रहा है ठगी का बड़ा कारोबार
September 11th, 2019 | Post by :- | 537 Views

हिमाचल प्रदेश में लोगों को लूटने के लिए नौकरी के नाम पर झूठे प्रलोभन देकर लूटने की कलायत शुरू हो चुकी है। एक संस्था नें कुछ पत्रकारों के साथ मिलकर झूठी खबरें छपवाई और लूट का यह कारोबार शुरू कर दिया गया है।
अभी तक दो अखवारों के दो पत्रकारों का पता चला है जिन्होंने इस संस्था से मिलकर या इसके झांसे में आकर ऐसी खबरें छपवाने में सहयोग किया है।

संस्था बिलासपुर जिले से संबंधित बताई जा रही है। इस संस्था नें लोगों को प्रलोभन दिया कि…
….
“अब घर-घर डिजिटल इंडिया की सेवाएं उपलब्ध होंगी। इसके लिए पंचायतों में डिजिटल सेवा सोशल वर्कर्ज रखे जाएंगे। जो कि घर-घर जाकर लोगों को डिजिटल इंडिया की उपयोगिता को बताएंगे।

पंचायतों में डिजिटल सेवा सोशल वर्कर्ज योजना के तहत वर्कर्ज रखे जाएंगे। डिजिटल सेवा सोशल वर्कर्ज के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। पंचायतों में रखे जाने वाले डिजिटल सेवा सोशल वर्कर्ज के लिए योग्यता दस जमा दो, स्नातक और कम्प्यूटर डिप्लोमा रखी गई है। डिजिटल सेवा सोशल वर्कर्ज रखने की कवायद शुरू हो गई है।”

इस प्रकार के प्रलोभनों से ये लोग, जनता से पैसे हड़प रहे हैं। आधार कार्ड और पैन कार्ड सहित कई दस्तावेज बनाने के नाम पर मोटी फीस बसूल रहे हैं। ऐसे में नौकरी के नाम पर भी बड़ी ठगी की गई हो, इससे मना नहीं किया जा सकता..
यहां तक कि पंचायत प्रतिनिधि भी इस बारे जानकारी नहीं जुटा पाए। प्रतिनिधि इनके झांसे में आ रहे हैं और कई जगह लोगों को पंचायत घर बुलाकर भी इनसे काम कराने की सलाह दी।
फिलहाल कोई भी इनके झांसे में न आएं, और पहले प्रशासनिक अधिकारियों से बात करें, क्योंकि सरकार की ऐसी कोई योजना नहीं है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।