बुजुर्गों के लिए खुशखबरी, अकेले रहने वाले बुजुर्गों की सेवा अब सरकार करेगी
February 13th, 2020 | Post by :- | 209 Views

ऐसे बुजुर्ग जो घरों में अकेले रहते हैं और उनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है, उनकी सेवा सरकार करेगी। इसके लिए गैर-सरकारी संगठनों की मदद ली जाएगी। केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय इस नई योजना पर काम कर रहा है। मंत्रालय की ओर से प्रस्तावित माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों का रखरखाव और कल्याण (संशोधन) विधेयक, 2019 में भी इसका प्रावधान किया गया है।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने ‘हिन्दुस्तान’ से बातचीत में कहा कि देश में बुजुर्गों की बड़ी संख्या ऐसी ऐसी है, जो घरों में अकेले रहते हैं। इनमें से कई के बच्चे बाहर रहते हैं तो कई के बच्चे उन्हें अपनी हालत पर छोड़ देते हैं।

ऐसे बुजुर्गों की सबसे बड़ी समस्या रोजमर्रा के कामों को करने में होती है। इसमें बाजार से सामान लाना, दवा लाना और घर के काम करना आदि प्रमुख हैं। इस समस्या को दूर करने के लिए मंत्रालय एक नई योजना पर काम कर रहा है। इसे गैर-सरकारी संगठनों की सहायता से किया जाएगा। इसमें गैर-सरकारी संगठनों के लोग घर-घर जाकर ऐसे बुजुर्गों की जरूरतों को पूरा करेंगे और उनकी सुख-सुविधाओं का ध्यान रखेंगे।

अधिकारी ने कहा कि इस योजना की रूपरेखा पर अभी काम चल रहा है। मंत्रालय की ओर से प्रस्तावित माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों का रखरखाव और कल्याण (संशोधन) विधेयक, 2019 में भी इस योजना को स्थान दिया जा रहा है। मंत्रालय इस योजना को लेकर भले ही उत्साहित हो, लेकिन जानकार इसे व्यवहारिक नहीं बता रहे हैं। बुजुर्गों के मुद्दों पर काम करने वाले गैर-सरकारी संगठन एज वेल फाउंडेशन के संस्थापक हिमांशु रथ ने कहा कि जमीनी व्यावहारिकता को ध्यान में रखे बिना बनाई जाने वाली ऐसी कोई भी लोकलुभावन योजना सफल नहीं हो सकती।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।