हर महीने एक जिले में रोजगार मेला लगाएगी सरकार
July 26th, 2019 | Post by :- | 485 Views

शिमला। प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार ने हर महीने एक जिले में रोजगार मेला लगाने का फैसला लिया है। फरवरी 2020 तक सूबे के दस हजार युवाओं को नौकरी दिलाने का लक्ष्य रखा है। गुरुवार को प्रदेश के उद्योग, श्रम एवं रोजगार मंत्री बिक्रम ठाकुर ने विभागीय कामकाज की समीक्षा बैठक में यह जानकारी दी।

मंत्री ने कहा कि राज्य में गत वर्ष सात रोजगार मेले लगाए गए थे। इनमें 9600 युवाओं को निजी व सार्वजनिक क्षेत्रों में रोजगार उपलब्ध करवाया गया। इस वर्ष होने वाले रोजगार मेलों का कैलेंडर जारी कर दिया है। सिरमौर जिले में 28 जुलाई, चंबा में 27 अगस्त, हमीरपुर में 20 सितंबर, कांगड़ा में 11 अक्तूबर, सोलन में 18 नवंबर, बिलासपुर में 20 दिसंबर, शिमला व ऊना में 21 जनवरी 2020 और कुल्लू में 14 फरवरी को रोजगार मेले होंगे।

बिक्रम सिंह ने कहा कि सरकार युवाओं को उनकी योग्यता के अनुसार रोजगार के समुचित अवसर उपलब्ध करवाने को प्रतिबद्ध है। सरकार का प्रयास है कि सरकारी क्षेत्र के साथ निजी क्षेत्र में भी युवाओं को रोजगार के अवसर दिए जाएं। कौशल विकास भत्ता योजना में इस वर्ष 100 करोड़ के बजट का प्रावधान किया है।

पिछले वर्ष 48,520 युवाओं का पंजीकरण कर उन्हें 56.78 करोड़ के वित्तीय लाभ दिए गए थे। योजना में उन सभी युवाओं का पंजीकरण किया जा रहा है, जिनकी मासिक आय 15 हजार रुपये से कम है। राज्य के सभी जिला रोजगार कार्यालयों को मॉडल कैरियर सेंटर में परिवर्तित किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि इसके तहत अभी तक शिमला में चार हजार युवाओं को कैरियर काउंसलिंग की सुविधा दी जा चुकी है। 300 युवाओं को रोजगार भी दिया गया है। एशियन डेवलपमेंट बैंक ने राज्य में चार मॉडल कैरियर सेंटर खोलने को 10.30 करोड़ स्वीकृत किए हैं। बैठक में प्रधान सचिव श्रम एवं रोजगार जेसी शर्मा, श्रम एवं रोजगार आयुक्त एसएस गुलेरिया सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।