कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुई हलेड पंचायत प्रधान
May 16th, 2019 | Post by :- | 249 Views

कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुई हलेड पंचायत प्रधान

देहरा, जसवां परागपुर विस क्षेत्र में गुटबाजी से जूझ रही कांग्रेस इस चुनाव में हाशिए पर नजर आ रही है जबकि विगत विधानसभा चुनावों में इस क्षेत्र से पार्टी का प्रदर्शन इतना खराब नहीं था लेकिन विधानसभा चुनावों में विक्रम ठाकुर की जीत तथा पहली बार इस क्षेत्र को कैबिनेट मंत्री मिलने के उपरांत क्षेत्र के राजनीतिक समीकरण बिगड़ चुके हैं । कांग्रेस जनाधार वाली पंचायतों के प्रतिनिधियों का  भाजपा में शामिल होने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है । पंचायत स्तर पर चुनाव से पूर्व हो रही गतिविधियों से ऐसा लगता है कि यदि समय रहते कांग्रेस ने अपने वर्करों को नहीं संभाला तो लोकसभा चुनावों में निश्चित रूप से कांग्रेस पार्टी की किरकिरी होना तय है । जंडोर पंचायत के पूर्व प्रधान सुरेश ठाकुर और वर्तमान प्रधान श्रेष्टा देवी के भाजपा में चले जाने से जहां कांग्रेस को करारा झटका लगा है ,वहीं अब हलेड पंचायत की प्रधान बाला जी  ने भी भाजपा का दामन थाम लिया है । बाड़ी पंचायत से कांग्रेस पार्टी के पुराने सिपाही राकेश कुमार ने अपने साथियों सहित भारतीय जनता पार्टी को ज्वाइन कर लिया है । लगातार भाजपा की सेंधमारी से कांग्रेसी खेमे में खलबली मची हुई है । परागपुर एरिया में भी कांग्रेस पार्टी से जुड़े बड़े लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी से प्रभावित होकर भाजपा के लिए काम करने का ऐलान किया है। हलेड पंचायत प्रधान  बाला जी और बाड़ी से कांग्रेस के राकेश कुमार ने बताया कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर तथा उद्योग मंत्री विक्रम ठाकुर से प्रभावित होकर कांग्रेस पार्टी को सदा के लिए अलविदा कह दिया है क्योंकि कांग्रेस ने राष्ट्रवाद के मुद्दे पर अपनी फजीहत करवाई है तथा आतंकवाद के मुद्दे पर भी पार्टी का स्टैंड सही नहीं था । जिस पार्टी से हम वर्षों तक जुड़े रहे ,उसके आला नेता सेना से सबूत मांग रहे हैं वहीं इस हलके में विक्रम ठाकुर के मंत्री बनने के बाद से इलाके को बड़ी सौगातें मिली हैं जिन्हें  नजर अंदाज नहीं किया जा सकता।

फोटो –   हलेड  पंचायत की प्रधान बाला जी का भाजपा में शामििल होने पर स्वागत करते  विक्रम ठाकुर

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।