हमीरपुर: सैनिक आशीष को मिला सेना मेडल, आतंकवादी को मारकर दिया था अदम्य साहस का परिचय #news4
March 26th, 2022 | Post by :- | 134 Views

उपमंडल नादौन के रंगस गांव के निवासी भारतीय सेना में सेवारत सिपाही आशीष ठाकुर को सेना मेडल से नवाजा गया है। बीते सप्ताह सेना के कार्यक्रम के दौरान लेफ्टिनेंट जनरल अमरदीप सिंह भिंडर ने बहादुरी एवं अदम्य साहस के लिए उन्हें सेना मेडल से अलंकृत किया। 23 जून 2020 को जम्मू-कश्मीर के एक गांव में तलाशी अभियान के दौरान आतंकवादियों ने सैन्य बल पर अंधाधुंध फायरिंग की थी।

उस समय आशीष ठाकुर ने अभूतपूर्व साहस का परिचय देते हुए मुठभेड़ में एक आतंकवादी को मार गिराया था। आशीष ने अपनी बारहवीं तक की पढ़ाई राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जोलसप्पड़ से पूरी की थी। उसके बाद नेताजी सुभाष चंद्र बोस राजकीय महाविद्यालय हमीरपुर में आगामी पढ़ाई के लिए दाखिला लिया। लेकिन कॉलेज की पढ़ाई बीच में ही छोड़कर 8 वर्ष पूर्व 24 ग्रेनेडियर में भर्ती हो गए।

उसके बाद उनकी तैनाती 55 राष्ट्रीय राइफल में जम्मू कश्मीर के दुर्गम क्षेत्र पुलवामा में हो गई। वहीं पर बहादुर सैनिक ने अपने अदम्य साहस का पराक्रम दिखाया था। उसी के चलते सेना की दक्षिण-पश्चिमी कमान की ओर से जयपुर में आयोजित कार्यक्रम में आशीष ठाकुर को सेना मेडल से अलंकृत किया गया है।

आशीष के पिता रमेश चंद एक निजी कंपनी में नौकरी करते हैं, जबकि माता माया देवी आयुर्वेद विभाग में सेवारत हैं। आशीष के माता-पिता, धर्मपत्नी पूनम ठाकुर, बहन अंकू-सप्पू, राजेंद्र सिंह और चाची संतोष कुमारी ने आशीष को सेना मेडल मिलने के मौके पर बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। आशीष के पिता ने बताया कि आशीष के घर पहुंचने पर सभी इलाका वासियों के साथ मिलकर एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।