यहां दगड़ाहण स्कूल के बच्चों ने बना दी प्लास्टिक की ईंट #news4
January 18th, 2022 | Post by :- | 104 Views

स्वारघाट : आम तो आम पर गुठलियों के भी दाम वाली कहावत तो आप लोगों ने सुनी ही होगी। ठीक इसी राह पर अग्रसर होते हुए दगड़ाहण पाठशाला के बच्चों ने गांव के प्लास्टिक कचरे को ठिकाने लगाने के साथ ही ईंट का नया अविष्कार तैयार कर दिया है। जी हां शिक्षा खण्ड स्वारघाट के राजकीय प्राथमिक पाठशाला दगड़ाहण के बच्चे प्लास्टिक अपशिष्ट से ईंट बनाने में हुए कामयाब हो गए हैं। दरअसल जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान जुखाला, जिला बिलासपुर द्वारा प्राथमिक पाठशाला दगड़ाहण को 15 अगस्त 2021 को‘‘खेल खेल में स्वच्छता का पाठ‘‘ प्रोजेक्ट के लिए चुना गया था।

डाइट बिलासपुर के दिशा निर्देश अनुसार इस कार्य को लेकर जहां बच्चों को ठोस कचरा प्रबंधन के प्रति जागरूक किया गया तो वहीं स्कूल प्रबंधन समिति व स्थानीय ग्राम वासियों के सहयोग से गांव दगड़ाहण को साफ सुथरा करने के लिए सफाई अभियान भी चलाया गया। इस सफाई अभियान के दौरान बहुत सारे पॉलिथीन के लिफाफे, प्लास्टिक की बोतलें आदि एकत्रित हुई। अब इतनी मात्रा में एकत्रित हुआ प्लास्टिक कचरे का उचित निपटान करना भी पाठशाला के लिए एक नई समस्या बन गई। काफी विचार विमर्श के बाद पाठशाला के बच्चों ने अध्यापकों के दिशा निर्देश में इस प्लास्टिक अपशिष्ट से ईंटे बनाने में सफलता हासिल की। प्लास्टिक की बनी यह ईंट जहां मजबूत है वहीं हल्की भी है। उससे भी बड़ी बात जो प्रमुख समस्या ठोस कचरा प्रबंधन की है उसके समाधान में यह प्रयोग काफी हद तक कारगर साबित हो रहा है। इस नए प्रयोग के बाद से अब प्लास्टिक अपशिष्ट को इधर उधर न फेंककर एकत्रित किया जा रहा है ताकि इसकी और ईंटें बनाई जा सके। अब तक कुरकुरे-चिप्स-टॉफियों के रैपर इत्यादि के प्लास्टिक अपशिष्ट से बच्चों द्वारा करीब 20 ईंटें तैयार की जा चुकी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।