फिन्ना सिंह नहर परियोजना के लिए हिमाचल ने मांगे केंद्र से 350 करोड़
January 23rd, 2023 | Post by :- | 34 Views

शिमला : हिमाचल प्रदेश के उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने 2011 में शुरू हुई फिना सिंह मध्यम सिंचाई परियोजना को पूरा करने के लिए सोमवार को केंद्र से 350 करोड़ रुपये की सहायता राशी मांगी है। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिले के नूरपुर में फिना सिंह परियोजना 2011 में 204 करोड़ रुपये की शुरुआती लागत से शुरू की गई थी, जो अब बढ़कर 646 करोड़ रुपये हो गई है। राज्य ने परियोजना को क्रियान्वित करने के लिए अपने संसाधनों से 283 करोड़ रुपये खर्च किए हैं।

केंद्र सरकार से 350 करोड़ की मांग

मुकेश अग्निहोत्री ने केंद्र सरकार से 350 करोड़ रुपये की मांग की है। उन्होंने कहा केंद्र सरकार से 350 करोड़ रुपये शीघ्र जारी करने का अनुरोध किया ताकि इस परियोजना को प्राथमिकता के आधार पर पूरा किया जा सके। उन्होंने कहा कि यह परियोजना केंद्र सरकार की भी प्राथमिकता सूची में है।

अग्निहोत्री ने ऊना जिले में चुकंदर क्षेत्र सिंचाई योजना के दूसरे चरण के लिए शीघ्र स्वीकृति प्रदान करने का भी अनुरोध किया, जिसे 75 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा इस परियोजना के चरण-1 को राज्य ने अपने संसाधनों से पूरा किया है। राज्य सरकार ने अपने पैसे लगाकर इस परियोजना को पूरा किया है।

जल्द पूरी होगी नादौन सिंचाई योजना

हिमाचल प्रदेश में कई सिंचाई योजनाएं चलाई जा रही हैं। इन्हीं में से एक है नादौन मध्यम सिंचाई योजना। इसका काम लगातार जारी है। हिमाचल प्रदेश के उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि नादौन सिंचाई योजना को अगले दो से तीन महीनों के भीतर समयबद्ध तरीके से पूरा कर लिया जाएगा।

उन्होंने मौजूदा योजनाओं को मजबूत करने की संभावनाओं का पता लगाने के लिए सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष को विशेषज्ञों की टीम को राज्य का दौरा करने का निमंत्रण दिया। उन्होंने कहा कि इस दौरे के साथ ही भविष्य में अन्य परियोजनाओं के लिए रोडमैप भी तैयार किया जाए।

बैठक में हुई योजनाओं पर चर्चा

माचल प्रदेश के उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) के अध्यक्ष कुशविंदर वोहरा से मुलाकात की और राज्य में सिंचाई क्षेत्र को मजबूत करने के लिए चर्चा की और इसके लिए उदार सहायता का अनुरोध किया। इस बैठक में राज्य की विभिन्न सिंचाई योजनाओं पर चर्चा की गई।

इस बैठक के दौरान सुखाहर और ज्वालाजी सिंचाई योजनाओं पर भी चर्चा की गई और यह अवगत कराया गया कि नदियों के तटीकरण कार्यों के लिए धन प्राप्त नहीं हो रहा है। हालांकि, राज्य को हर संभव मदद का आश्वासन दिया गया है। बता दें कि, मुकेश अग्निहोत्री के पास जल शक्ति विभाग भी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।