हिमाचल सरकार ने ट्रक ऑपरेटरों को दिया बड़ा झटका, ट्रकों का बढ़ाया गुड्स टैक्स #news4
January 11th, 2022 | Post by :- | 301 Views

नालागढ़ : हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा जहां निजी बस ऑपरेटरों का गुड टैक्स माफ किया गया और वही ट्रकों के गुड टैक्स में बढ़ोतरी कर हिमाचल प्रदेश के ट्रक ऑपरेटरों को बड़ा झटका दिया है। ट्रक ऑपरेटरों का कहना है कि पहले 6 टायर वाली गाड़ी का 6000 और 10 टायर वाली गाड़ी का 10,000 गुड्स टैक्स हुआ करता था। अब यह टेक्स 6 टायर की गाड़ी का 10 हजार और 10 टायर वाली गाड़ी का 15 हजार गुड्स टैक्स कर दिया है, इससे पूरे प्रदेश के ट्रक ऑपरेटर प्रभावित हुए है। इसी विषय पर नालागढ़ के ट्रक ऑपरेटरो ने मंगलवार को पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस से मिनी सेक्ट्रेट तक हिमाचल सरकार के खिलाफ रोष रैली निकाली, जिसमें  दर्जनों ट्रक ऑपरेटर ने हिस्सा लिया। ट्रक ऑपरेटर द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री को एसडीएम नालागढ़ महेंद्र पाल गुर्जर के माध्यम से एक ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें ट्रक ऑपरेटरों द्वारा मांग की गई कि सरकार द्वारा जो ट्रक ऑपरेटरों के साथ सौतेला व्यवहार कर गुड्स टैक्स को बढ़ाया गया है, जिससे वाहन चालकों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

ट्रक ऑपरेटर यूनियन के प्रधान सुरमुख सिंह ने बताया कि गुड्स टैक्स बढ़ाकर सरकार ने ट्रक ऑपरेटरों के पेट पर लात मारने का काम किया है। सरकार पूरी तरह से ट्रक ऑपरेटरों को अनदेखा कर रही है। अगर इसी प्रकार प्रदेश सरकार का रवैया ट्रक ऑपरेटरों के साथ ऐसा रहा तो आने वाले समय में ट्रक ऑपरेटर उग्र आंदोलन करेंगे जिसका खामियाजा प्रदेश की भाजपा सरकार को भुगतना पड़ेगा। वहीं उन्होंने कहा कि कोरोना के चलते पहले ही ट्रक ऑपरेटरो को काफी मार झेलनी पड़ी है। सरकार को चाहिए था कि ट्रकों की इंश्योरेंस और टैक्स माफ करना चाहिए था, परंतु माफ करने की बजाय सरकार ने उल्टा टैक्स और बढ़ा दिए हैं। वहीं उन्होंने मुख्यमंत्री से सवाल किया है कि गुड्स टैक्स अन्य किसी भी राज्य में नहीं बढ़ाया गया है तो हिमाचल प्रदेश में क्यों ट्रक ऑपरेटरों के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है जिसका जवाब जल्द से जल्द मुख्यमंत्री दे व ट्रक ऑपरेटरों की मांग जल्द पूरी की जाए। वहीं एसडीएम नालागढ़ महेंद्र पाल गुज्जर ने बताया कि ट्रक ऑपरेटर यूनियन द्वारा ज्ञापन सौंपा गया है, उनकी मांग प्रदेश सरकार के समक्ष रखी जायेगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।