जिला चम्बा में वरदान बनी हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना
September 23rd, 2019 | Post by :- | 190 Views

हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा आरंभ की गई हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना चम्बा जिला के दुर्गम व दूर-दराज क्षेत्रों में गरीब व जरूरतमंद महिलाओं के लिये वरदान सिद्व हो रही है। दूर-दराज क्षेत्रों की महिलाओं को घर का चुल्हा जलाने के लिये अब घंटों की मशक्कत नहीं करनी पड़ रही है, साथ ही धुंयें से भी निजात मिली है। यह सब प्रदेश सरकार की महत्वकांक्षी हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के दक्षतापूर्ण कार्यन्वयन से ही सम्भव हो पाया है।
चुराह क्षेत्र में टिक्करी ग्राम पंचायत की महिला श्रीमती निशा कुमारी ने बताया कि “इस योजना के कारण मेरी जिंदगी में महत्वपूर्ण बदलाव आया है। अब गैस सिलेंडर वाले चुल्हे से मुझे खाना बनाने में बहुत ही कम समय लगता है। बच्चों को पढ़ाने और घर के अन्य काम के लिये भी अच्छा समय मिलने लगा है।” यह सिर्फ निशा कुमारी ही नहीं बल्कि जिला की हजारों महिलाओं के जीवन में आये सकारात्मक बदलाव की कहानी है। तीसा के गांव पतोगन, डाकघर भंजराडू निवासी 82 वर्षीय श्रीमती दुर्गु ने नि:शुल्क गैस कुनैक्शन प्राप्त होने पर प्रदेश सरकार का आभार व्यक्त करते हुये कहा “सरकार दीन-दुखियों का सहारा बनी हैं। उम्र के इस पड़ाव में अब लकडिय़ां काटने और उन्हें ढ़ोने की हिम्मत नहीं रही है।”
जिला चम्बा में महत्वकांक्षी गृहिणी सुविधा योजना के तहत अब तक 7581 लाभार्थियों को इस योजना के तहत लाभान्वित किया जा चुका है। वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान जिला में 3847 लाभार्थियों को नि:शुल्क एलपीजी कुनैक्शन प्रदान किये जा चुके हैं। इस वित्त वर्ष के दौरान विकास खंड चम्बा में 239, मैहला में 303, भटियात में 1013, तीसा में 1606, भरमौर में 198 तथा विकास खंड सलूणी में 488 लाभार्थियों को नि:शुल्क एलपीजी कुनैक्शन प्रदान किये गये हैं। वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान जिला में 3734 लाभार्थियों को नि:शुल्क गैस कुनैक्शन प्रदान किये गये हैं, जिसमें से विकास खंड चम्बा में 587, मैहला में 667, भटियात में 1265, तीसा में 396, भरमौर में 396 तथा विकास खंड सलूणी में 423 नि:शुल्क गैस कुनैक्शन प्रदान किया गये।
जिला में उज्जवला गृहिणी सुविधा योजना के तहत भी 1046 नि:शुल्क एलपीजी गैस कुनैक्शन प्रदान किये गये हैं। जिला चम्बा में हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना को समयबद्ध व दक्षता से लागू किया जा रहा है। इससे गरीब महिलाओं की जीवन शैली में सकारात्मक बदलाव के साथ-साथ पेड़-पौधों के संरक्षण में भी मदद मिल रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।