हिमाचल की सुध तब ली गई जब केंद्र में भाजपा की सरकार रही : जयराम #news4
October 13th, 2022 | Post by :- | 89 Views

ऊना : रेल की हिमाचल से कनैक्टीविटी कम रही है और ट्रेन या तो कालका से मिलती थी या फिर चंडीगढ़ से मिलती थी। बहुत मुश्किल से कुछ वर्षों से ऊना को रेल की सुविधा प्राप्त हुई और आज यहां वंदे भारत ट्रेन चलने से चार चांद लगे हैं। खुशी है कि यह ट्रेन बहुत ही कम समय लेकर ऊना से चंडीगढ़ व दिल्ली तक का सफर सरल कर देगी। यह स्वप्न जैसा था, जोकि साकार हुआ है। यह बात ऊना के इंदिरा स्टेडियम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कही। उन्होंने कहा कि हिमाचल भौगोलिक दृष्टि से कठिन है, लेकिन उसके बावजूद यह सुंदर और शांत प्रदेश है। यहां आना-जाना सरल हो, उसके लिए हम सदैव प्रयासरत रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल छोटा-सा प्रदेश है और इसमें प्राइवेट सैक्टर की इन्वैस्टमैंट से अपनी प्रगति की गाथा को आगे बढ़ा सकते हैं। जब हिमाचल में सरकार बनी तो यह विषय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समक्ष रखा और उनके मार्गदर्शन में ग्लोबल मीट रखी और आपने आकर उसको साकार किया। हिमाचल छोटा प्रदेश होने के बावजूद ईज ऑफ डूइंग बिजनैस में 17वें से बढ़कर 7वें स्थान पर पहुंच गया है।

आज फार्मा सैक्टर में एशिया का नंबर वन राज्य बना हिमाचल
जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल की सुध तब ही ली गई, जब केंद्र में भाजपा की सरकार रही। अटल बिहारी बाजपेयी ने हिमाचल में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए पैकेज दिया था और उस पैकेज की वजह से हिमाचल आज फार्मा सैक्टर में एशिया का नंबर वन स्थान हासिल कर पाया है। देशभर में बल्क ड्रग पार्क बनाने की बात आई तो कई बैठकों का दौर चला और उसके बाद हिमाचल का दावा पेश किया। देश के 3 ड्रग फार्मा में से एक हिमाचल को मिला। नालागढ़ में बनने वाला मेडिकल डिवाइस पार्क भी प्रधानमंत्री की देन है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को हिमाचलवासी अपना मानते हैं और यही कारण है कि 5 वर्ष के कार्यकाल में प्रधानमंत्री 9वीं बार हिमाचल आए हैं। उन्होंने कहा कि जैसे देश में भाजपा की सरकारें रिपीट हो रही हैं, वैसे ही हिमाचल में भी रिवाज बदलकर भाजपा की सरकार बनाएं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।