कोरोना संक्रमण को रोकने में Home quarantine है बेहतर, जानें इसे करने का तरीका और सावधानियां
March 29th, 2020 | Post by :- | 220 Views

कोरोना वायरस (corona Virus) से बचाव के कई उपाय किए जा रहे हैं। वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने में होम क्वारंटाइन कारगर उपाय है। उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने कहा सरकार की ओर से जारी एडवाजरी में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने में होम क्वारंटाइन एक अच्छा उपाय बताया गया है।

अगर किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण दिख रहे हैं तो उसके लिए 14 दिन का होम क्वारंटाइन कारगर उपाय है। इससे उसके परिवार में किसी को कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं फैलेगा। कोरोना वायरस के लक्षण सामने आने में 14 दिन लग रहे हैं। अगर लापरवाही करेंगे तो कई लोग बीमार हो सकते हैं। होम क्वारंटाइन का मतलब घर में खुद को अलग कर लेना है। अगर आपको कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका है या सर्दी व जुकाम हुआ है तो खुद को एक कमरे में अलग कर लें।

होम क्वारंटाइन कैसे करें

होम क्वारंटाइन के लिए एक ऐसा कमरा चुनें जो हवादार हो और जिसमें शौचालय भी हो। बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं व बच्चों से दूरी बनाकर रखें। घर में पानी, बर्तन, तौलिया व सार्वजनिक उपयोग की अन्य चीजों को न छुएं। सर्जिकल मास्क लगाएं। छह से आठ घंटे बाद मास्क बदलें। मास्क को सही तरीके से ठिकाने लगाएं। साबुन से हाथ धोएं और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।

देखभाल करने वाला व्यक्ति यह सावधानी बरते

घर का एक ही सदस्य बीमार व्यक्ति की देखभाल करे। ऐसे व्यक्ति की त्वचा के संपर्क में आने से बचें। घर को साफ करने के लिए दस्ताने पहनें। उन्हें उतारने के बाद हाथों को अच्छे से धोएं। घर में बाहरी व्यक्ति को न आने दें। होम क्वारंटाइन व्यक्ति के कमरे के फर्श और हर चीज को एक फीसद सोडियम हाइपोक्लोराइड सोल्यूशन से साफ करें। शौचालय को भी ब्लीच से साफ करें। उपायुक्त ने हाल ही में विदेशों से लौटे लोगों व ऐसी किसी केस हिस्ट्री वाले व्यक्तियों से संपर्क में आए लोगों से 14 दिन के होम क्वारंटाइन के लिए आग्रह किया है। लोगों की स्वयं की सावधानी उनके व स्वजनों के लिए फायदेमंद है। कोरोना वायरस के लक्षण दिखने पर तुरंत स्वास्थ्य विभाग के टोल फ्री नंबर 104 पर कॉल करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।