भूखी गायों को मिला चारा, सिस्टम हारा
March 13th, 2020 | Post by :- | 176 Views

हरे चारे से लदी जीप जब शुक्रवार की सुबह गौसदन में पहुंची तो मानवता की हरियाली भी दिख गई। जैसे ही जीप गौसदन के गेट पर पहुंची तो गायें रंभाती हुई पहुंच गई। जीप अंदर गई तो गायों की भीड़ इसके पीछे-पीछे चलनी शुरू हो गई।

कांगड़ा के प्रतिष्ठित व्यवसायी वर्मा ग्लास कम्पनी के पवन वर्मा,उनकी पत्नी सारिका वर्मा और बेटी नेहा वर्मा ने वीरवार देर शाम को सामने आई खबर पर गायों के चारे के लिए प्रबंधन का काम शुरू किया।

सबसे बड़े जिले कांगड़ा का जो प्रशाशन लंगड़ा साबित हो चुका था,उसको इस परिवार ने आईना दिखा दिया। छह दिन से जो अफसर और सरकारी मशीनरी मुठी भर चारे का बंदोबस्त नहीं कर पाई थी, उन्ही गायों को वर्मा परिवार ने बारह घण्टो से भी कम वक्त में जीप भर कर हरा घास होशियारपुर से कांगड़ा लाकर मुहैया करवा दिया।

हैरानी की बात है कि गायों के लिए वर्मा फैमली की दिल्ली में बैठी बिटिया नेहा रात भर फोन घुमाकर चारे के लिए काम करती रहीं । बारिश की वजह से पंजाब की घास मंडियों में भी चारे का अभाव था। पर मजबूत इच्छा शक्ति से सुबह चारे से भरी जीप पहुंच गई। बस अगर कुछ नहीं पहुँचा तो वो तूड़ी से लदा ट्रक जो बीते 7 दिन से आ रहा है।

वर्मा दम्पत्ति ने तो यह साबित कर दिया कि असम्भव कुछ नहीं है,बस मजबूत इरादे होने चाहिए। वर्मा फैमिली जो प्लाईवुड और शीशे के कारोबार में है,उसने सिस्टम को आईना तो दिखा ही दिया है। अब यह प्रशाशन जाने कि इस आईने में उसको अपनी सूरत कैसी नजर आई ?

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।