हिमाचल में चिट्टे के साथ पकड़े गए तो गैर इरादतन हत्या का केस और प्रॉपर्टी होगी सीज
September 13th, 2019 | Post by :- | 182 Views

हिमाचल पुलिस ने चिट्टे के काले कारोबार पर लगाम लगाने के लिए सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। अब चिट्टे के साथ पकड़े गए आरोपी की सारी प्रॉपर्टी सीज करने का सख्त प्रावधान पुलिस ने कर दिया है। यह जानकारी हिमाचल प्रदेश के डीजीपी सीता राम मरडी ने मंडी में आयोजित पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए दी।
मरडी ने बताया कि जो भी आरोपी चिट्टे के साथ पकड़ा जाएगा, उसकी सारी संपत्ति को सीज कर दिया जाएगा। यहां तक की आरोपी केस चलने तक अपने बैंक अकाउंट को भी इस्तेमाल नहीं कर पाएगा। वहीं गाड़ी, घर और अन्य कीमती जेवरात भी पुलिस सीज कर देगी। हालांकि एनडीपीएस एक्ट में यह प्रावधान पहले से है, लेकिन पुलिस अभी तक इसमें ढील बरत रही थी, लेकिन अब इसे सख्ती से लागू करने का निर्णय लिया गया है। चिट्टे के कारोबार में संलिप्त लोगों के खिलाफ पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज करने का भी निर्णय ले लिया है, क्योंकि यह नशा मौत को ही दावत देता है।
मरडी ने बताया कि चिट्टे और अन्य नशीले पदार्थों की रोकथाम के लिए अब पुलिस सामुदायिक योजना के तहत वार्ड स्तर पर कमेटियों का गठन किया जाएगा। हर पंचायत में नशा निवारण समितियों का गठन किया जा रहा है और इसमें वार्ड पंचों की भी सहभागिता शामिल की जा रही है। इन कमेटियों में जो लोग होंगे, वह अपने गांव के नशा तस्करों की जानकारी पुलिस को देंगे। यदि पुलिस अपने स्तर पर किसी तस्कर को पकड़ती है तो फिर नशा निवारण समिति की कार्यप्रणाली पर सवाल उठेगा कि उन्होंने इस तस्कर की जानकारी पुलिस को क्यों नहीं दी। इसलिए पुलिस जनसहभागिता से इस कार्य को करने की योजना बना चुकी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।