शरीर का ये अंग फड़कने लगे तो समझ जाएं कि आने वाली है मुसीबत #news4
May 31st, 2022 | Post by :- | 175 Views

Ang ka fadakna shubh ya ashubh : शकुन अपशकुन शास्त्र, समुद्रिक शास्त्र और ज्योतिष शास्त्र में शरीर के अंगों के फड़कने के अर्थों का विस्तारपूर्वक वर्णन किया गया है। आओ जानते हैं शरीर के ऐसे 5 संकेत जिससे यह ज्ञात होता है कि मुसीबत आने वाली है।
कहते हैं कि किसी भी घटना के घटने से पहले हमारे शरीर के कुछ अंगों में कंपन आदि संकेत शुरू हो जाते हैं जैसा कि रामायण में भी आता है कि जैसे ही भगवान राम जब रावण से युद्ध करने के लिए निकले तभी से सीता माता को शुभ संकेत मिलने शुरू हो गए थे और रावण को सभी अशुभ संकेत आने लगे। संकेतों का शास्त्र कितना सही है या नहीं है हम ये नहीं जानते।

अंग फड़कना विचार- ang fadakna ka fal :-
1. पुरुष के शरीर का अगर बायां भाग फड़कता है तो भविष्य में उसे कोई दुखद घटना झेलनी पड़ सकती है।
3. स्त्री के शरीर का अगर दायां भाग फ़कता है तो भविष्य में उसे कोई दुखद घटना झेलनी पड़ सकती है।
4. अगर दाईं आंख बहुत देर या दिनों तक फड़कती है तो यह लंबी बीमारी होने का संकेत है।
5. यदि किसी महिला की नाभि लगातर फड़कती रहे हो समझ जाना चाहिए कि कोई हानि होने वाली है।
6. पुरुष के दोनों कंधे फड़कना अशुभ माना गया है। हो सकता है किसी के साथ लड़ाई हो।
7. यदि हथेली के कोने में हलचल होती है तो इसका अर्थ है कि आप जल्द ही किसी मुसीबत में पड़ने वाले हैं।
8. यदि किसी महिला की बायीं आंख फड़कती है तो ये वियोग का लक्षण होता है।
9. यदि किसी जातक की गर्दन बाईं ओर फड़कती है तो धन हानि होगी।
10. यदि किसी व्यक्ति की दाईं जांघ फड़कती है तो उसे शर्मिंदगी झेलनी पड़ सकती है।
11. यदि किसी आदमी की छाती के दाईं ओर फड़फड़ाहट होती है यह किसी विपदा का संकेत है।
12. कमर के दाईं ओर फड़फड़ाहट होती है तो यह किसी विपदा का संकेत है।
13. दाहिने हाथ की कोहनी के फड़फड़ाने का अर्थ है कि किसी से झगड़ा होगा।
अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष आदि विषयों पर न्यूज़4 में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। इनसे संबंधित किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। उपरोक्त में से कुछ जनश्रुति और मान्यताओं पर आधारित भी हैं। पाठक अपने स्व:विवेक का उपयोग करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।