सपने में सफेद जानवर और पक्षी देखें तो खुल जाएगी किस्मत #news4
January 27th, 2022 | Post by :- | 178 Views
White Animal and Birds Dreams: अधिकतर सपने इसलिए आते हैं कि ऐसे दृ‍श्य हमने देखा होगा। अधिकतर सपने हमें हमारी दिनचर्या में किए गए कार्य से प्राप्त होते हैं। सपने आने के कई कारण हो सकते हैं। परंतु सपने में सपेद प्राणियों को देखना शुभ माना जाता है। आओ जानते हैं कि वे 5 सफेद प्राणी कौनसे हैं जिन्हें सपने में देखने से भाग्य जागृत हो जाता है।
1. सफेद उल्लू : सपने में सफेद उल्लू देखना किसी बड़े इंसान से मुलाकात के साथ ही धन समृद्धि के मार्ग खुलना माना जाता है। उल्लू दर्शन का अर्थ है कि साक्षात लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होगी।
2. सफेद शेर : सपने में सफेद शेर को देखने का अर्थ है कि आपको अपने शत्रुओं पर आसानी से विजय प्राप्त होगी और कोर्ट कचहरी के कार्यों में भी विजयी मिलेगी। इसका यह अर्थ भी है कि आपके जीवन में सुख शांति आएगी, कार्य क्षेत्र में उन्नती करेंगे। करियर क्षेत्र में तरक्की मिलेगी। जीवन में आ रही हर चुनौती कासमाधान होगा।
3. सफेद मोर : सपने में सफेद मोर देखने का अर्थ है कि जीवन में खुशियां और संपन्नता आने वाली है। मोर पर बैठे हुए शनि देव का दिखना खूब धन और संपन्नता मिलने का संकेत माना गया है। इसका मतलब यह भी है कि आप जीवन में कोई बड़ी उपलब्धि आप हासिल करने वाले हैं। आपके प्रयास सफल होंगे।
4. सफेद हाथी : सफेद हाथी देवराज इंद्र का वाहन ऐरावत है। सपने में सफेद हाथी को देखने के कई संकेत हैं जैसे यदि आप उस पर बैठे हैं तो आप का राजयोग प्रारंभ हुआ यह समझो। यह सफेद हाथी दिखाई देता है तो यह समझो कि हमें कहीं से अपार धन मिलने वाला है नौकरी लगने वाली है। आपके जीवन में अचानक से अच्छे बदलाव होंगे, साथ ही धन-धान्य और सुख समृद्धि की प्राप्ति भी होगी।
5. सफेद हंस : सपने में सफेद हंस देखने का अर्थ है कि आपके घर में कोई मांगलिक शुभ कार्य संपन्न होने वाला है और आपको अपार धन मिलने की संभावना है।
6. सफेद नाग : सपने में सफेद नाग देखने का अर्थ है कि जल्द ही आपकी किस्मत खुलने वाली है। सपने में सफेद या सुनहरा या चमकीला सांप नजर आए, तो यह भी कहा जाता है कि पूर्वजों और भगवान शिव का आशीर्वाद मिलेगा।
7. सफेद अश्व : सफेद अश्व को सपने में देखने से करियर में सफलता के संकेत मिलते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।