धन-संपत्ति, मान-सम्मान, प्रेम-विवाह और नौकरी-करियर में चाहिए सफलता तो पहनें ये रत्न #news4
February 3rd, 2022 | Post by :- | 102 Views

ज्योतिष की मान्यता है कि रत्न या स्टोन आपकी किस्मत पलट सकते हैं। ऐसे कई रत्न हैं जो बुरे दिन समाप्त करके अच्छे दिन ला देते हैं। परंतु यह भी कहा जाता है कि यदि कोई रत्न राशि या कुंडली के अनुसार नहीं पहना है तो नुकसान भी पहुंचा सकता है। हम जिस रत्न की बात कर रहे हैं उस रत्न के बारे में कहा जाता है कि यदि किसी व्यक्ति पर भविष्य में कोई मुसीबत या परेशानी आने वाली होती है तो यह रत्न अपना रंग बदल देता है।

फिरोजा : हम जिस रत्न की बात कर रहे हैं वह है फिरोजा। फिरोजा रत्न का उपयोग ज्योतिष के साथ ही आभूषण बनाने में भी होता है। यह रत्न गहरे आसमानी रंग का होता है। फिरोजा रत्न को धारण करने के कोई नुकसान अभी तक नहीं जाने गए इसलिए इसे कोई भी पहन सकता है।
कब धारण करें फिरोजा : इस रत्न को बृहस्पति वार, शुक्रवार या शनिवार को धारण शुभ मुहूर्त में धारण कर सकते हैं। माना जाता है कि यदि आपकी कुंडली में बृहस्पति पहले से ही बलवान है तो इसे पहनने की आवश्यकता नहीं है। धनु राशि के लोगों के लिए फिरोज़ा रत्न उपयुक्त है। जिसका भी बृहस्पति ग्रह कमजोर हो उसे यह रत्न पहनने से फायदा होगा।
क्या होगा फिरोजा धारण करने से?
1. धन संपत्ति : यह रत्न दुर्भाग्य को खत्म कर सौभाग्य प्रदान करता है और जीवन में धन, सुख और समृद्धि बढ़ाता है।
2. मान-सम्मान : यदि आप मान सम्मान की चाहत रखते हैं तो यह रत्न धारण करें। यह आपमें विश्‍वास और आत्मविश्वास बढ़ा देगा।
3. प्रेम-विवाह : वैवाहिक जीवन में प्रेम या सुख की चाह रखने वाले या विवाह में देरी से परेशान लोग इस रत्न को धारण कर सकते हैं। दांपत्य जीवन में सुख की इच्छा हेतु भी यह रत्न पहने सकते हैं।
4. नौकरी-करियर : नौकरी और करियर में सफलता के लिए भी यह रत्न धारण करते हैं। कला के क्षेत्र में सक्रिय लोग जैसे अभिनेता, कलाकार, फिल्मकार लोगों सहित पेशे से आर्किटेक्चर भी यह रत्न पहन सकते हैं। पेशे डॉक्टर और इंजीनियरों को भी यह रत्न पनने से लाभ मिल सकता है।
5. अन्य कार्यों हेतु : जो व्यक्ति मानसिक रूप से खुद को कमजोर महसूस करता है उसे भी यह रत्न पहनना चाहिए। यदि आप मानसिक शांति की तलाश में हैं तो यह रत्न धारण करना चाहिए। इस पत्थर की मदद से शारीरिक और मानसिक शांति प्राप्त होती है। यह रत्न आपको बुरी आत्माओं से भी बचाता है। श्वास संबंधी समस्या, उच्च रक्तचाप और अवसाद से मुक्ति हेतु भी यह रत्न पहना जाता है।
ये लोग न पहनें यह रत्न :
1. यह रत्न शराब पीने वालों को नहीं पहनना चाहिए क्योंकि इससे उस पर नकारात्मक असर हो सकता है।
2. यदि आपमें अहंकार या घमंड है तो भी यह रत्न आपको पहनना चाहिए।
3. यदि आपका बृहस्पति गृह बलवान है तो इस रत्न को किसी ज्योतिष से पूछकर ही धारण करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।