नाहन में हिंदू मुस्लिम समुदाय के बीच विरोध प्रदर्शन मामले के बाद आइजी हिमांशु मिश्रा ने किया माजरा का दौरा, लिया स्‍थिति का जायजा #news4
May 18th, 2022 | Post by :- | 114 Views

नाहन : पांवटा साहिब उपमंडल के माजरा में देर रात को हिंदू मुस्लिम समुदाय के बीच विरोध प्रदर्शन नारेबाजी व माजरा पुलिस थाने के घेराव की स्थिति का जायजा लेने बुधवार सुबह ही आईजी हिमांशु मिश्रा भी नाहन पहुंच गए। ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी की मौजूदगी में नाहन सिर्किट हाउस में माजरा प्रकरण को लेकर उपायुक्त राम कुमार गौतम, पुलिस अधीक्षक ओमापति जम्वाल, जिला सोलन के पुलिस अधीक्षक सोलन वीरेंद्र शर्मा, जिला बद्दी के पुलिस अधीक्षक बद्दी मोहित चावला के साथ बैठक हुई।

अभद्र टिप्पणी से माहौल खराब करने की निंदा : शमशेर अली

पूर्व जिला परिषद सदस्य शमशेर अली ने पांवटा साहिब के पीडब्ल्यूडी विश्राम गृह में एक प्रेस वार्ता आयोजित कर कहा कि हिंदू और मुस्लमान भाई दोनों ही ईद और दीवाली साथ साथ मनाते हैं। हमेशा एक दूसरे के साथ मिलजुल कर रहते हैं। मगर बीते कल कुछ शरारती तत्वों द्वारा फेसबुक पर हिंदू देवी देवताओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करके माहौल को खराब करने का काम किया है। जिसकी हम कड़े शब्दों में निंदा करते हैं। उन्होंने कहा कि माहौल खराब करने वाले लोगों के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए। हमें सभी धर्मों का सम्मान करना चाहिए, किसी भी धर्म के प्रति गलत टिप्पणी नहीं करनी चाहिए।

माजरा की घटना के बाद सिरमौर की सीमाओं पर अलर्ट

मंगलवार देर रात को माजरा पुलिस थाना में घटित हुई घटना के बाद पुलिस प्रशासन ने जिला सिरमौर के साथ लगती उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश व हरियाणा की सीमाओं के सभी रास्तों पर अलर्ट जारी कर दिया गया है। जिला सिरमौर में आने जाने वाले सभी वाहनों की चेकिंग की जा रही है। ताकि कोई भी व्यक्ति बाहर से आकर यहां पर अप्रिय घटना को अंजाम ना दे सके।

पक्ष: हिमांशु मिश्रा आइजी साउथ रेंज शिमला ने कहा कि जिला सिरमौर के माजरा में मंगलवार रात को जो घटना घटित हुई उस पर पुलिस व प्रशासन कड़ी कार्रवाई कर रहा है, कुछ कार्रवाई जारी है। प्रदेश में शांति भंग करने वाले अपनी हरकतों से बाज आएं नहीं, तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। हिमाचल प्रदेश में शांति व्यवस्था किसी को भी भंग नहीं करने दी जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।