16 अप्रैल के बाद फिर शुरू हो सकता है बच्चों का टीकाकरण, कोरोना वायरस के कारण लगी है रोक
April 13th, 2020 | Post by :- | 117 Views

कोरोना महामारी ने बच्चों को बीमारियों से दूर रखने वाले टीकाकरण को भी प्रभावित किया है। केंद्र के करोड़ों रुपये के टीकाकरण यानी इम्यूनाइजेशन कार्यक्रम को कोरोना संक्रमण के खतरे के मद्देनजर रोका गया है। उम्मीद है कि जहां कोरोना के मामले सामने नहीं आए हैं, वहां यह 16 अप्रैल के बाद फिर से शुरू हो जाए। इस संबंध में निर्देश जारी होने की संभावना है।

21 दिन से बच्चों और उनके स्वजनों की सुरक्षा को देखते हुई ही इसे बंद किया गया था। टीकाकरण के सुरक्षा कवच का ही परिणाम है कि शिशु मृत्यु दर में कमी आई है। मिशन इंद्रधनुष जैसे टीकाकरण कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। इसमें बच्चों को कई तरह की बीमारियों से बचाने के लिए मुफ्त टीके लगाए जा रहे हैं। इससे बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

इन दिनों अस्पतालों में होने वाले प्रसव के दौरान ही नवजात का टीकाकरण हो रहा है। प्राथमिक स्वस्थ्य केंद्र (पीएचसी) व जगह टीकाकरण के लिए दिन निर्धारित किए गए हैं। यूनिसेफ द्वारा टीकाकरण को लेकर कोई निर्देश जारी नहीं हुआ है, जिससे इसे दोबारा पूरी तरह से शुरू किया जा सके। स्वास्थ्य केंद्रों में टीकाकरण के लिए संपर्क करने पर आशा वर्करों से जवाब मिल रहा है कि अभी कुछ दिन रुक जाएं। आशा वर्कर वैसे भी इन दिनों एक्टिव केस फाइडिंग अभियान के तहत घर घर जाकर स्वस्थ्य संबंधी जानकारी जुटा रही हैं।

जल्द शुरू होगा टीकाकरण

लॉकडाउन और कफ्र्यू में बच्चों को लगाए जाने वाला टीकाकरण प्रभावित हुआ है। जल्द ही इसे फिर से शुरू किया जाएगा। अस्पतालों में होने वाले प्रसव के बाद नवजात बच्चों को टीके लगाए जा रहे हैं। अभी प्राथमिकता लोगों और बच्चों को कोरोना संक्रमण से बचाने की है। -आरडी धीमान, अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य), हिमाचल प्रदेश।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।