मंडी के गागल स्‍कूल में 900 खिलाड़ी छात्राएं व 250 शिक्षक रातभर बाढ़ में फंसे रहे, ऊपरी मंजिल में किए शिफ्ट #news4
August 20th, 2022 | Post by :- | 87 Views

नेरचौक : बल्ह हलके के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला गागल में छात्रा वर्ग 19 वर्ष से कम आयु वर्ग की जिलास्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता में भाग लेने आई करीब 900 छात्राएं व उनके साथ आए 250 शारीरिक शिक्षक व डीपीई समेत अन्य स्टाफ शुक्रवार रात सेकड़ खड्ड में आई बाढ़ के पानी में फंस गए। इससे रात्रि विश्राम वाले स्थल के चारों ओर जल भराव से छात्राओं व उनके साथ आए अलग अलग जोन के स्कूलों के अध्यापकों में हड़कंप मच गया। रात को ही भवन के धरातल में सो रही छात्राओं को पहली मंजिल में शिफ्ट करवाना पड़ा। भारी बारिश से सेकड़ खड्ड के उफान पर आने से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला गागल के भवन के चारों ओर जल भराव हो गया। आनन फानन में शनिवार सुबह ही जिला स्तरीय खेल कूद प्रतियोगिता का शनिवार को समापन हो गया। बारिश व बाढ़ के कारण कुछ स्पर्धाओं के फाइनल मुकाबले संपन्न नहीं हो पाए।

टास के माध्यम से विजेता उपविजेता टीमों का निर्णय करना पड़ा। समापन समारोह में जिला परिषद के अध्यक्ष पाल वर्मा ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की उन्होंने विजेता-उपविजेता टीमों को पुरस्कृत किया। खेलकूद प्रतियोगिता में भाग लेने आई छात्राओं व स्टाफ के बाढ़ में फंसने की सूचना मिलते ही स्थानीय विधायक इंद्र सिंह गांधी व उपमंडलाधिकारी ना. बल्ह स्मृतिका नेगी भी पहुंच गई। जिला में बारिश व बाढ़ के कारण अधिकतर स्थानों में सड़क मार्ग पूरी तरह से बाधित हो गए है। भूस्खलन व पहाड़ियों से चट्टानें व मलबा गिरने से आवागमन बंद हो गया है। इसलिए प्रशासन व शिक्षा विभाग ने लंबा रास्ता तय करने वाले जोन के खिलाड़ियों के ठहराव व भोजन की व्यवस्था गागल में ही कर दी है। मौसम ठीक होने के बाद छात्राओं को यहां से रवाना किया जाएगा।

भंगरोटू में भी पेश आया था मंजर

शिक्षा विभाग के बरसात में खेलकूद प्रतियोगिता के निर्णय पर अब सवाल उठ रहे हैं। अभिभावकों का कहना है कि शिक्षा विभाग को वेन्यू तय करते समय मौसम की पूरी जानकारी हासिल करनी चाहिए। गागल में सामने आई घटना कोई पहली घटना नहीं है। कुछ साल पहले बल्ह क्षेत्र के भंगरोटू में भी खेलकूद प्रतियोगिता के दौरान इस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा था। नाले के उफान पर आने से खेलकूद प्रतियोगिता में भाग लेने पहुंचे खिलाड़ियों को भी इस तरह के हालात से जूझना पड़ा था।

चारों ओर जमा हो गया था पानी

शिक्षा उपनिदेशक सुदेश कुमार का कहना है क्षेत्र में झमाझम बारिश होने से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला गागल के चारों ओर पानी जमा हो गया। खेलकूद प्रतियोगिता में भाग लेने पहुंची छात्राओं व अन्य स्टाफ को सुरक्षित स्थान पर ठहराया गया। शनिवार को प्रतियोगिता का समापन हो गया है लेकिन दूर का रास्ता तय करने वाले जोन की छात्राओं के ठहराव व भोजन की व्यवस्था फिलहाल गागल में ही की गई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।