Coronavirus की पहली माईक्रोस्कोपी तस्वीर, भारतीय वैज्ञानिकों ने की जारी
March 27th, 2020 | Post by :- | 303 Views

पूरी दुनिया जिस कोरोना वायरस (COVID-19) से लड़ रही है, उसी COVID-19 की पहली माइक्रोस्कोपी तस्वीर भारतीय वैज्ञानिकों ने जारी की है। यह तस्वीर भारतीय चिकित्सा अनुसंधान जर्नल (IJMR) के ताजा संस्करण में प्रकाशित की गई है। वैज्ञानिकों ने प्रयोगशाला द्वारा पुष्टि किए गए देश में कोरोना वायरस के पहले शख्स के गले की खराश का नमूना लिया था। बता दें कि देश में कोरोना वायरस यह पहला मामला 30 जनवरी को केरल में सामने आया था।

बता दें कि देशभर में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 75 नए मामले सामने आए हैं, वहीं मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 724 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटे में इस संक्रमण की वजह से 4 मरीजों की मौत हो चुकी है। उन्होंने बताया कि 10,000 वेंटिलेटर के लिए एक सार्वजनकि क्षेत्र की कंपनी को आदेश दिया गया है।

वही, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) से भी 1-2 महीनों में 30,000 अतिरिक्त वेंटिलेटर खरीदने का अनुरोध किया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से राज्यों से कहा है कि वे सुनिश्चित करें कि विदेश से लौटे सभी यात्रियों की निगरानी की जाए। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से यह कहा गया कि हमें सावधान रहना होगा, लॉकडाउन और सामाजिक मेलजोल में कमी को शिद्दत से अपनाना होगा, क्योंकि अगर एक भी व्यक्ति कोविड-19 के दिशानिर्देशों का पालन नहीं करता है तो हमारे सभी प्रयास मिट्टी में मिल जाएंगे।

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस के खिलाफ जंग के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार (24 मार्च) की रात आठ बजे ऐलान किया था कि रात 12 बजे (यानि 25 मार्च) से देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन लागू रहेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देशभर में लागू किए गए इस लॉकडाउन का आज तीसरा दिन है। देश के तमाम हिस्सों में लॉकडाउन का कड़ाई से पालन किया जा रहा है और जहां लोग लापरवाही बरत रहे हैं, वहां प्रशासन एक्शन ले रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।