2025 तक भारत की अर्थव्यवस्था होगी 5 ट्रिलियन डॉलर : अनुराग ठाकुर
October 3rd, 2019 | Post by :- | 128 Views

मंडी, 03 अक्तूबर : केंद्रीय वित्त एवं कार्पोरेट मामले राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि साल 2025 तक भारत की अर्थव्यवस्था 5 ट्रिलियन डॉलर होगी। मोदी सरकार इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए समर्पित प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि अच्छी अर्थव्यवस्था के लिए बैंकिंग सेक्टर का मजबूत होना जरूरी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में इसके लिए काम किया जा रहा है।

वे आज मंडी के पड्डल मैदान में आयोजित ग्राहक सम्पर्क पहल कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बोल रहे थे।
अनुराग ठाकुर ने कहा कि आवश्यक है बैंक जनता से दूर न रहें। इस तरह के कार्यक्रमों से यह तय किया जाएगा कि जनता को बैंकों से अपनी जरूरतों के लिए ज्यादा से ज्यादा पैसा मिले । इस पहल के तहत देशभर में 450 कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। ग्राहक सम्पर्क पहल के जरिए सभी बैंक विभिन्न ऋण योजनाओं को लोगों तक पहुंचाने के लिए प्रयास करेंगे।

कार्पोरेट कर की दर में कटौती से बढ़ेगा निवेश

उन्होंने कहा कि सरकार ने देश में निवेश आकर्षित करने के लिए मौजूदा कंपनियों के लिए मूल कार्पोरेट कर की दर को मौजूदा 30 प्रतिशत से घटाकर 22 प्रतिशत कर दिया है। इसके साथ ही एक अक्टूबर 2019 के बाद लगने वाली नई विनिर्माण इकाईयों के लिए कर की दर को घटाकर 15 प्रतिशत पर लाया गया है। सरकार के इस कदम से अगले 2 साल में भारत दुनिया भर लिए निवेश का केंद्र बन जाएगा।

जनधन में खुले 36 करोड़ बैंक खाते

अनुराग ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इस पर जोर है कि हर गरीब का खाता बैंक में हो । इसके लिए जनधन योजना शुरू कर हर व्यक्ति को बैंकिंग सेवा से जोड़ने का काम किया गया । इसके तहत 36 करोड़ नए बैंक खाते खुले, जिनमें 1.60 लाख करोड़ जमा हुए। इसके अतिरिक्त मोदी सरकार ने मुद्रा योजना के जरिए करोड़ों गरीबों को लाखों करोड़ रुपए की सहायता दी। इससे गरीबों के जीवन में बड़ा परिवर्तन आया है।

बचाया देश का 1 लाख करोड़

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने सब्सिडी के सीधे हस्तांतरण की प्रणाली को अधिक पारदर्शी बना कर देश का पैसा गलत हाथों में जाने से बचाया है। डीबीटी आधार लिंकिंग से देश का 1 लाख करोड़ रुपया बचाया गया।

एमएसमएई को बल

अनुराग ठाकुर ने कहा कि लघु, मध्यम व सूक्ष्म इकाईयां (एमएसएमई) भारत की रीढ़ हैं। ये सेक्टर जितना अच्छा प्रदर्शन करता है उससे लोगों को रोजगार के उतने ही अवसर बढ़ते हैं । सरकार एमएसएमई सेक्टर की मजबूती के लिए प्रतिबद्ध है। इस पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है कि शुरू हुए उद्यम बंद न हों। सरकार छोटे बड़े सभी उद्यमियों को सब सहूलियतें दे रही है।

स्टार्टअप में पहल वाले दुनिया के पहले 5 देशों में भारत का नाम

अनुराग ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार स्टार्ट अप पर जोर दे रही है। प्रधानमंत्री के प्रयासों से देश में स्टार्टअप को गति मिली है। आज भारत स्टार्टअप के क्षेत्र में अभिनव पहल वाले दुनिया के पहले 5 देशों में शामिल है। देश में शुरू हुए स्टार्टअप का दुनियाभर में डंका बजा है।

मुनाफे में बैंक

उन्होंने कहा कि सरकार की सही नीतियों के चलते आज अधिकतर बैंक मुनाफे में हैं। पहले की सरकार के समय ऐसी स्थिति ऐसी नहीं थी। वर्तमान सरकार ने बैंकों का गया पैसा वापिस मिले इसके लिए कानून बनाया, जिससे बैंकों के 1.31 लाख करोड़ रुपए वापिस आए। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों के गलत काम के लिए सारे बैंकिंग सेक्टर को बुरा मानना गलत है।

होटल व्यवसायियों को दी सहूलियत

उन्होंने कहा कि होटल व्यवसायियों की सहायता के लिए होटल के कमरों के एक हजार रुपए से कम के किराए को जीएसटी से मुक्त किया गया है। कमरों के 10 हजार रुपए तक के किराए पर जीएसटी 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी की गई है।
इस मौके उन्होंने मेले में ऋण स्वीकृत करवाने वाले लोगों को स्वीकृति पत्र वितरित किए।
इस मौके पीएनबी के प्रधान कार्यालय दिल्ली के महाप्रबंधक अनिल बंसल ने ग्राहक सम्पर्क पहल कार्यक्रम पर विस्तार से जानकारी दी। अंचल प्रबंधक रीटा कौल ने भी बैंको की योजनाओं पर प्रकाश डाला। पीएनबी के सर्कल प्रमुख बिंदर शर्मा ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा।
कार्यक्रम में विभिन्न बैंकों ने स्टॉल लगा कर अपनी ऋण संबंधी योजनाओं की जानकारी दी। मंत्री ने इन स्टॉल का का निरीक्षण भी किया ।
इस मौके एसबीआई के महाप्रबंधक विजय सिंह नेगी, जिला परिषद अध्यक्ष सरला ठाकुर, पूर्व मंत्री रूप सिंह, पूर्व विधायक कन्हैया लाल, उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर, पुलिस अधीक्षक गुरदेव शर्मा सहित अन्य अधिकारीऔर बैेंकों प्रतिनिधि मौजूद थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।