इंदौरा : दोनो किडनी खराब प्रशासन से इलाज की लगाई गुहार
July 18th, 2019 | Post by :- | 192 Views

उपमंडल इंदौरा के अन्तर्गत आती पचांयत लोधवां के गांव टिप्परी वार्ड नः8 में एक ऐसा वाक्य देखने को मिला जहां सरकार की सभी योजनाएं विफल साबित होती नजर आई ।

दर्शना देवी जोकि दोनो किड़नियों खराब होने की विमारी से पड़ित हैै । अब ईश्वर से मौत की भीख मांग रही है आलम ये है कि इनकी विमारी के कारण इन पर बहुत सा कर्जा हो गया है इनके इलाज पर हर हफ्ते आने वाला खर्च पांच छः हजार के करीब है पति प्रभात सिंह मजदूर हैै ओर इनका ईलाज करने में असमर्थ हैै। इनके तीन बच्चे है एक लड़की ओर दो लडके । पीडिता दर्शना देवी का कहना है मेरी विमारी के कारण घर में खाना भी बीना सब्जी के बनता है अोर दोनों लड़को की पढ़ाई छुट गई दोनों दसवीं के आगे नहीं पढ़ पाए ।
अब वो मेरी विमारी के इलाज के लिए अपने पिता के साथ मजदूरी करने को मजबूर हैं।

इस बिषय में पचांयत के पंच ने हमें कहा हमने ये मामला कई बार पंचायत के प्रधान के आगे रखा लेकिन इस पर कोई गोर नहीं की गई।ग्राम सभा में एक व्यक्ति ने आपना नाम आई आर डी पी में काटकर इनका नाम डालने की पेशकश की तब प्रधान जी मान गए थे। लेकिन उस व्यक्ति नाम कटने उपरांत भी इनका नाम आईआर डी पी में नहीं डाला गया। पंच का कहना है हास्पताल में ही इनको लेके जाता हूं। मैं भी गरीब आदमी हूं। ऑटो चलाता हूं। इनकी दंयनीय हालत देख कभी किराया लेता हूं कभी नही।
पंचायत के प्रधान तिमर राज का कहना है हम गरीबों को प्राथमिकता देते है ये परिवार कभी ग्राम सभा में आया ही नही लेकिन हम गरीब ,विधवा ,द्वियांग को ही प्राथमिकता के आधार पर रखते है आपके द्वारा ये बात मेरे संज्ञान में आई । अगली ग्राम सभा में इनका नाम आईआर डी पी में डाला दिया जाएगा।
इस विषय में ऊंच्च दण्डाधिकारी इंदौरा गौरभ महाजन का कहना है ऐसा कोई मामला में संज्ञान में नहीं आया था अगर आता है तो इस पर उचित कार्यवाही की जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।